Chief Minister Pushkar Singh Dhami

    देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत जब जीवित थे तब उन्हें ‘गली का गुंडा’ कहने वाली पार्टी अब चुनावी फायदे के लिए अपनी रैलियों में उनके कट आउट लगा रही है।

    भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा पौडी जिले के श्रीनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम यह कैसे भूल सकते हैं कि देहरादून में अपनी रैली में जनरल रावत के बड़े-बड़े कट आउट लगाने वाली पार्टी ने उन्हें तब गली का गुंडा कहा था जब वह जीवित थे। पार्टी को खुद पर शर्म आनी चाहिए।” हाल में पत्नी तथा 12 अन्य लोगों के साथ तमिलनाडु में एक हेलीकॉप्टर हादसे में मारे गए देश के प्रथम प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल रावत पौडी जिले के सैण गांव के रहने वाले थे।

    धामी ने कहा कि पिछले साढे चार साल गायब रहीं सभी राजनीतिक पार्टियां अब चुनावों के नजदीक आते ही लोगों से वोट पाने के लिए दिखाई देने लगी हैं। उन्होंने कहा कि इन पार्टियों को राज्य के लोगों से कोई मतलब नहीं है, ये सिर्फ सत्ता के लिए वापस आई हैं। उन्होंने कहा कि जहां तक युवाओं का संबंध है, ये पहले भी उन्हें गुमराह कर चुकी हैं।

    सत्ता में आने पर युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने का वादा करने के लिए आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए धामी ने कहा कि यह सिर्फ युवाओं को झांसा देने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि ऐसा ही वादा कांग्रेस ने 2017 में किया था जब उसने सभी विधानसभा क्षेत्रों में युवाओं को ‘जॉब गारंटी कार्ड’ बांटे थे लेकिन उससे कुछ हुआ नहीं।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस चाहे लोगों को लुभाने के लिए कुछ भी कहे लेकिन लोग यह नहीं भूल सकते कि भारत विरोधी नारे लगाने वाला एक आदमी अब उसी पार्टी में है जबकि एक अन्य पार्टी नेता ने हिंदुओं की तुलना आइएसआइएस से की है। धामी परोक्ष रूप से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ का संदर्भ दे रहे थे।

    धामी ने दावा किया कि उत्तराखंड के विकास के लिए असली कदम डबल इंजन की सरकार ने ही उठाए हैं। उन्होंने कहा कि सभी विभागों को राज्य के अगले 10 साल के लिए विकास का रोडमैप तैयार करने को कहा गया है।