अरविंद केजरीवाल (Photo Credits-ANI Twitter)
अरविंद केजरीवाल (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने गोवा विधानसभा चुनाव (Goa Assembly Election 2022) में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उनकी पार्टी के बीच होने का दावा करते हुए सोमवार को कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनके इस आकलन की “पुष्टि” कर दी है कि आम आदमी पार्टी (आप) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) केवल गैर-भाजपा मतों को “विभाजित” करेंगे।

    आप के संयोजक केजरीवाल ने चिदंबरम पर पलटवार करते हुए कहा कि चिदंबरम ‘रोना बंद करें’ क्योंकि कांग्रेस को वोट करने का मतबल भाजपा को वोट करना है तथा गोवा के लोग इस बारे में वहां मतदान करेंगे जहां उन्हें उम्मीद दिखाई देती है।  इससे एक दिन पहले, केजरीवाल ने कहा था कि अगर गोवा में 14 फरवरी के विधानसभा चुनाव में खंडित जनादेश आता है तो उनकी पार्टी गठबंधन सरकार का हिस्सा बनने के लिए तैयार है।

    गोवा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ चुनाव पर्यवेक्षक चिदंबरम ने गोवा के मतदाताओं से शासन में बदलाव के लिए वोट डालने और कांग्रेस को चुनने की अपील की। उन्होंने कहा, “मेरा आकलन कि आप (और टीएमसी) गोवा में गैर-भाजपा वोटों को केवल खंडित करेंगे, इसकी अरविंद केजरीवाल ने पुष्टि कर दी है। गोवा में मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है।”  

    चिदंबरम ने सिलसिलेवार ढंग से ट्वीट करते हुए कहा, “जो लोग शासन बदलना चाहते हैं (10 वर्षों के कुशासन के बाद) वे कांग्रेस को वोट करेंगे। जो इसी शासन को जारी रखना चाहते हैं, वे भाजपा को वोट करेंगे।” उन्होंने कहा कि गोवा में मतदाताओं के सामने विकल्प साफ है। कांग्रेस नेता ने पूछा कि आप लोग शासन में बदलाव चाहते हैं या नहीं।  

    चिदंबरम ने कहा, “मैं गोवा के मतदाताओं से शासन बदलने और कांग्रेस को वोट देने की अपील करता हूं।” उनके ट्वीट को रिट्वीट करते हुए केजरीवाल ने उन पर पलटवार किया, ‘‘सर, रोना बंद कीजिए- ‘हाय रे, मर गए रे, हमारे वोट काट दिए रे।’ गोवा के लोग वहां वोट करेंगे जहां उन्हें उम्मीद दिखाई देती है।”  

    केजरीवाल ने दावा किया, ‘‘कांग्रेस, भाजपा के लिए उम्मीद है, गोवा के लोगों के लिए नहीं। कांग्रेस के 17 विधायकों में से 15 भाजपा में चले गए। कांग्रेस इस बात की गारंटी देती है कि उसको मिला हर वोट भाजपा के पास सुरक्षित ढंग से चला जाएगा। भाजपा को वोट देने के लिए सुरक्षित रास्ता कांग्रेस से होकर जाता है।” गोवा में विधानसभा की सभी 40 सीटों पर मतदान 14 फरवरी को होना है। (एजेंसी)