Jharkhand will get the gift of bullet train

    – ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची : झारखंड (Jharkhand) के लोगों को भी बुलेट ट्रेन (Bullet Train) की सौगात मिल सकती है,  रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) की संभावित योजना के तहत बुलेट ट्रेन (Bullet Train) को झारखंड के धनबाद जिले से होकर चलाया जाना है। केंद्र सरकार ने वाराणसी से हावड़ा तक बुलेट ट्रेन चलाने की योजना बनाई है। जिसमें ये प्रस्ताव है कि इसे झारखंड से भी इसे गुजारा जाएगा। इसके लिए राज्य के कई जिलों में सर्वे का काम हो रहा है। झारखंड के गिरिडीह और बगोदर इलाके में सर्वे का काम पूरा कर लिया  गया है।

    फिलहाल केंद्र सरकार के निर्देश पर धनबाद से होकर बुलेट ट्रेन चलाने के सर्वे का काम  किया जा रहा है,  इससे यहां के लोगों में उत्साह का महौल है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रोवर इफ्रां प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को इस कार्य की जिम्मेवारी सौंपी गई है, इस बाबत सर्वे की जिम्मेदारी संभालने वाले लोकेश भारद्वाज से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि वाराणसी से हावड़ा तक बुलेट ट्रेन चलाने की योजना है। हालांकि अभी तक सर्वे का ही कार्य किया जर रहा है। सर्वे के बाद ये रिपोर्ट केंद्र को सौपेंगे। केंद्र सरकार ही इस पर अंतिम फैसला ले सकती है ।

    भरद्वाज ने कहा कि सर्वे के बाद ही यह बताया जा सकेगा कि इस क्षेत्र से बुलेट ट्रेन चलेगी या नहीं। उन्होंने कहा कि इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए जल्द से जल्द सर्वे  रिपोर्ट सरकार को सौंप देंगे। अभी तक झारखंड के गिरिडीह में सर्वे का काम हो गया है। लेकिन धनबाद जिले में सर्वे का काम बाकी है।

    पारसनाथ में विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थस्थल है

    बुलेट ट्रेन को पारस नाथ के करीब से गुजारने की योजना है गौर तलब है कि झारखंड के पारसनाथ में विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थस्थल है। यहां देश-दुनिया से जैन धर्म के लोग आते हैं। नई बुलेट ट्रेन रूट के लिए पटरी पारसनाथ के आसपास से भी गुजरेगी। इसे ध्यान में रखकर भी सर्वे किया जा रहा है। पारसनाथ से बुलेट ट्रेन रूट को कनेक्ट करने पर रेल मंत्रालय को ज्यादा से ज्यादा यात्रियों का प्रतिसाद मिलने की संभावना है।