akhilesh-mayawati
File Pic

    लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी (BSP) अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilkesh Yadav) पर अपनी विदेश यात्राओं को विकास से जोड़ने पर बुधवार को तंज करते हुए कहा कि समग्र विकास के लिए सही सोच और दृष्टिकोण जरूरी है, जो बिना विदेशी दौरे के भी संभव हैं।

    विधानसभा में नेता विपक्षी दल अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा था कि अगर मैं विदेश नहीं जाता तो देश का सबसे अच्छा एक्सप्रेस-वे नहीं बना पाता और कानपुर को मेट्रो रेल परियोजना नहीं दे पाता। अखिलेश के विदेशी दौरों पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने कई बार निशाना साधा था।

    मायावती ने बुधवार को ट्वीट में कहा, ‘‘नवनिर्वाचित उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष श्री सतीश महाना के अनेक बार विदेश भ्रमण की आड़ में नेता प्रतिपक्ष श्री अखिलेश यादव का अपने विदेश दौरों को विकास के बहाने उचित ठहराने का प्रयास उनकी उस कमियों पर पर्दा डालने की कोशिश है जिसका शिकार भाजपा उनको अक्सर बनाती रही है।”

    बसपा नेता ने कहा कि ‘‘समग्र विकास के लिए सही सोच और दृष्टिकोण जरूरी है, जो बिना विदेशी दौरे के भी संभव है। ऐसा बसपा सरकार ने ताज एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेसवे आदि के जरिए साबित करके दिखाया है। जिस प्रकार दंगा, हिंसा, अपराध-मुक्ति के लिए दृढ़ इच्छाशक्ति जरूरी है, उसी तरह विकास के लिए भी संकीर्ण नहीं, सही सोच जरूरी है।”

    मंगलवार को विधानसभा में सतीश महाना के अध्यक्ष चुने जाने पर अपने स्वागत भाषण में अखिलेश ने विधानसभा अध्यक्ष के राजनीतिक अनुभव के बारे में बताते हुए कहा कि महाना कई देशों की यात्रा कर चुके हैं। विधानसभा की वेबसाइट के अनुसार, जनसेवा, पठन-पाठन, पर्यटन और संगीत में गहरी रुचि रखने वाले महाना अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन, रूस, सिंगापुर, मलेशिया, स्वीडन, नॉर्वे, न्यूजीलैंड, कनाडा, जर्मनी, ऑस्ट्रिया, चीन, जापान, स्विट्जरलैंड, और ऑस्ट्रेलिया समेत लगभग 35 देशों का भ्रमण कर चुके हैं।