हो रहा PM नरेंद्र मोदी का इंतजार, कल होगा ‘काशी विश्वनाथ कॉरिडोर’ का लोकार्पण, तस्वीरों में देखें भव्यता

    नयी दिल्ली.  एक बड़ी खबर के अनुसार,PM नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का संसदीय क्षेत्र काशी (Varanasi) जो पूरी तरह उनके स्वागत के लिए तैयार है, बस PM मोदी  का इंतजार है। जी हाँ कल PM मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। आइये देखें कि काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में क्या खासीयत है वहां PM मोदी के कल के बड़े दौरे को लेकर क्या तैयारियां हैं। 

    कैसा है काशी विश्वनाथ कॉरिडोर 

    गौरतलब है कि, करीब सवा 5 लाख स्क्वायर फीट में बने काशी विश्वनाथ धाम को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर भी कहा जाता है।  यह काशी विश्वनाथ कॉरिडोर करीब 700 करोड़ रुपए की लागत से बनाकर तैयार हुआ है,  इसमें छोटी बड़ी 23 इमारतें और 27 मंदिर का समावेश हैं।  इसी से आप इसकी भव्यता का अंदाजा लगा सकते हैं।  

    जोर-शोर से चल रही हैं तैयारियां 

    इस भव्य कार्यक्रम की शहर से लेकर गांवों तक के घरों में  तैयारियां चल रही हैं। अब काशीपुराधिपति के धाम का वैभव पूरी दुनिया देखेगी। लोकार्पण उत्सव का साक्षी बनने के लिए देश भर से श्रद्धालुओं का काशी आगमन भी  हो रहा है। 

    इसके लिए लेजर शो, आतिशबाजी के साथ रोशनी से समस्त मंदिर, शहर की गलियां, चौराहे व अन्य सार्वजनिक स्थान जगमग होंगे। शिव की नगरी में श्रद्धालु बाबा के धाम के लोकार्पण के उत्सव को भव्य बनाने की तैयारियों में जुटे हुए हैं। धाम के लोकार्पण के साथ ही आज यानी 12 दिसंबर से 14 दिसंबर तक तीन दिवसीय शिव दीपोत्सव की शुरूआत हो जाएगी। दुनियाभर के मंदिरों और मठों में लोकार्पण का सजीव प्रसारण 13 दिसंबर की सुबह से ही किया जाएगा। 

    इसके साथ ही अब काशी विश्वनाथ में आने वाले श्रद्धालुओं को तंग और संकरे रास्ते से निजात मिलेगी।  इस पूरी जगह को खूबसूरत लाइटों से सजाया गया है।  आस-पास के घरों को एक रंग में रंगा गया है।  सड़कों से लेकर चौराहे तक सुन्दर सुन्दर झालरे लगाई गई हैं, जिससे इस कॉरिडोर की सुंदरता में अब और चार चांद लग गए हैं। 

    इस मुहूर्त में होगा लोकार्पण  

    वहीं काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण के लिए मुहूर्त निकाला जा चुका है। ख़बरों के अनुसार कॉरिडोर का लोकार्पण रेवती नक्षत्र में होगा। इसके लिए 20 मिनट का शुभ मुहूर्त प्राप्त हुआ है, जिसकी सूची तैयार करके आचार्य गणेश्वर शास्ती ने मंडलायुक्त को सौंप दी है।

    मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा 

    बता दें कि काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने और यहां की स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में मदद करेगी। ये काशी के लिए बहुत ही शुभ संकेत है। ख़बरों के अनुसार काशी विश्वनाथ धाम की परिकल्पना 50 हजार स्क्वायर मीटर क्षेत्रफल में की गई। इसके मुख्य रूप से 3 मुख्य भाग है जिसमें मंदिर परिसर मुख्य गर्भ गृह है। पहले ये मंदिर 3000 हजार स्क्वायर फीट में सीमित था लेकिन अब इस भव्य मंदिर परिसर का दायरा 73 मी। /40 मी।  का हो गया है।