yogiji

    लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद से ही लोगों की मदद (Help) के लिए लगातार ग्राउंड जीरो (Ground Zero) पर हैं। सीएम योगी कोरोना (Corona) की दूसरे लहर में गाउंड जीरो पर उतरने वाले पहले मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने अब तक नोएडा, मेरठ और गाजियाबाद सहित 13 जिलों का निरीक्षण किया है और करीब 40 स्थानों पर पहुंच चुके हैं। 

    सीएम योगी फिर दो दिवसीय दौरे पर आज वेस्ट यूपी (West UP) के नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ पहुंचे। कल वह सहारनपुर और मुजफ्फरनगर जिले का दौरा करेंगे। वह ग्राउंड जीरो पर जनप्रतिनिधियों से फीड बैक ले रहे हैं और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी कर रहे हैं। इसके अलावा भौतिक निरीक्षण भी कर रहे हैं। उन्होंने लापरवाही पर सख्त कार्यवाही की चेतावनी भी दी है। इस दौरान सीएम योगी ने इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर (आईसीसीसी) और वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण भी किया। 

    पहले शासन स्तर से आदेश, अब कर रहे धरातल पर परीक्षण

    सीएम योगी कोरोना की पहली लहर से ही टीम 11 के अधिकारियों के साथ रोजाना समीक्षा बैठक कर रणनीति बनाते रहे हैं। इस बार कोरोना की दूसरी लहर में उन्होंने टीम 11 की जगह टीम 9 बनाई है और कोरोना से जुड़े हर कार्य के लिए शासन स्तर पर भी जिम्मेदारी तय की है। उन्होंने कई बार वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले स्तर पर अफसरों को शासन के दिशा-निर्देशों को अमल में लाने के लिए आदेश दिए हैं। अब वह ग्राउंड जीरो पर उतर कर शासन के दिशा-निर्देर्शों को लेकर की गई कार्यवाही की समीक्षा कर रहे हैं। 

    30 अप्रैल से लगातार दौरे पर

    सीएम योगी कोरोना के खिलाफ जंग में फ्रंट फुट पर हैं। वह 14 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हुए थे। इस दौरान उन्होंने होम आइसोलेशन में रहते हुए रोजाना न सिर्फ अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की, बल्कि समाज के विभिन्न तबकों के साथ वर्चुअली संवाद कार्यक्रम भी जारी रखा। 30 अप्रैल को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वह ग्राउंड जीरो पर उतर गए और लखनऊ में उन्होंने डीआरडीओ की ओर से बनाए गए डेडिकेटेड कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया था। 

    37 साल में पहली बार एएमयू पहुंचा प्रदेश का मुखिया

    सीएम योगी लखनऊ के अलावा मुरादाबाद, बरेली, वाराणसी, गोरखपुर, बस्ती, अयोध्या, अलीगढ़, आगरा और मथुरा का दौरा कर चुके हैं। उन्होंने गांवों में भौतिक निरीक्षण कर लोगों से उनके स्वास्थ्य और दवाइयों आदि की जानकारी भी ली है। अलीगढ़ में तो 37 साल बाद प्रदेश का मुखिया पहली बार एएमयू में पहुंचा था।