MANDAL

    नई दिल्ली/मधेपुरा. एक अनूठी खबर के अनुसार लगातार 11 बार कोरोनारोधी टीका लगवा चुके 84 वर्षीय ब्रह्मदेव मंडल (Brahmdeo Mandal Vaccine Man Bihar) ने अब बूस्टर डोज (Corona Vaccination in Bihar) भी लगवाने की मांग रखी है। पता हो कि मधेपुरा जिले के ब्रह्मदेव मंडल (Brahmdeo Mandal Madhepura Vaccine) को सीआरपीसी की धारा 41 के तहत पुरैनी थाने में एक घोषणा पत्र जमा करने के बाद उन्हें अपनी गिरफ्तारी से राहत मिली है।

    पता हो कि उनके खिलाफ अलग-अलग जगहों पर 11 बार वैक्सीन लेने के लिए अलग-अलग ID का इस्तेमाल करने के लिए FIR दर्ज की गई है। उनकी गिरफ्तारी रोकने के लिए RJD विधायक चंद्रशेखर ने भी अपना मोर्चा खोल दिया था। लेकिन अब इन्ही ब्रह्मदेव मंडल ने कोरोना टिके के बूस्टर डोज की भी मांग कर दी है। 

    यह है ‘वैक्सीन चच्चा’ की डिमांड

    दरअसल मधेपुरा के ब्रह्मदेव मंडल ने बीते बुधवार को पत्रकारों से बात की और कहा कि “मैं इसकी प्रभावशीलता को देखने के लिए अब बूस्टर डोज भी लूंगा। अगर यह फायदेमंद है, तो मैं 12 नहीं बल्कि इसे 24 बार टीका लगवाउंगा।” उतसाहित इतना कि, मंडल को बार-बार टीकाकरण दफ्तर के चक्कर काटने का कोई मलाल नहीं है।उन्होंने कहा कि उन्होंने लंबे समय तकउनके  पीठ दर्द सहित विभिन्न बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए उन्होंने ऐसा किया है।

    बता दें कि ब्रह्मदेव ने स्वास्थ्य विभाग को गुमराह करने के आरोप लगा है। वहीं बीते 7 जनवरी को पुरैनी थाना क्षेत्र के पुरैनी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (PHC) के प्रभारी की ओर से दी गई शिकायत पर रिटायर्ड पोस्टमास्टर ब्रह्मदेव मंडल के खिलाफ एक मामला भी दर्ज किया है। मंडल ने पिछले साल 13 फरवरी को पुरैनी PHC से अपना पहला कोरोना वैक्सीन लिया था।

    वैक्सीन देने वालों को बिल्कुल ट्रेनिंग नहीं दी गयी

    इधर ब्रह्मदेव मंडल ने टीकाकरण वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों का बचाव करते हुए दावा किया कि, “उनमें से अधिकांश अकुशल और अप्रशिक्षित थे। वो प्रक्रियाओं का ठीक से पालन भी नहीं कर रहे थे। हालाँकि इसमें मेरा एकमात्र दोष यह था कि, मैंने उनसे हर बार झूठ बोला कि मैंने पहले टीका नहीं लिया था। ये एक प्रकार से प्रशासन की खामी है।”