china
Pic: Social Media

    नई दिल्ली. जहां एक तरफ, चीन-ताइवान (China Taiwan) के बीच विवाद बढ़ता ही जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) की ताइवान यात्रा से भड़का चीन (China), उनके लौटते ही वह अब और आक्रामक हो गया है। इतना ही नहीं, चीन ने अब ताइवान को घेरने के लिए बाकायदा उसकी सीमा के आसपास घेराबंदी शुरू कर दी है। वहीं ख़बरों की मानें तो, चीनी सेना ने ताइवान के आसपास अपना सैन्य अभियान शुरू कर दिया है। 

    इधर अब चीन ने दावा किया है कि, उसकी नौसेना, वायु सेना और अन्य सशस्त्र बलों का सैन्य अभ्यास ताइवान के करीब के 6 इलाकों में जारी है। वहीं चीनी सरकारी समाचार एजेंसी ने बताया कि, ये अभ्यास नाकेबंदी, समुद्री लक्ष्यों पर हमले, जमीनी लक्ष्यों पर हमले और वायुक्षेत्र नियंत्रण को ध्यान में रखकर किए जा रहे हैं। आज यानी गुरुवार से शुरू हुआ यह सैन्य अभियान रविवार तक चलेगा।

    इसके साथ ही अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने ताइवान की सीमा पर युद्धाभ्यास के लिए युद्धपोत, फाइटर जेट व मिसाइलों को भी अपने साथ तैनात किया है। चीन की आधिकारिक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि, PLA 4 से 7 अगस्त तक छह अलग-अलग क्षेत्रों में भी सैन्य अभ्यास करेगा, जो ताइवान द्वीप को सभी दिशाओं से भी घेरता है।

    दरअसल पेलोसी की यात्रा से चीन खासा नाराज है, जो बीते बुधवार को ताइवान से जा चुकी हैं। लगभग 25 वर्ष के बाद अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के किसी वर्तमान अध्यक्ष की यह पहली ताइवान यात्रा थी। पेलोसी की यात्रा के चलते पहले से तनावपूर्ण चीन-अमेरिका संबंधों में और खटास आने के संकेत मिले हैं। चीन ने अमेरिका को साथ ही यह चेतावनी भी दी है कि पेलोसी की यात्रा का ”चीन-अमेरिका संबंधों की राजनीतिक नींव पर गंभीर प्रभाव” पड़ेगा।