Manpa general meeting on 20, 36 members will be appointed

    अमरावती. जिला परिषद सदस्य व ठेकेदार ऐसी दोहरी भूमिका में सक्रिय कथित ‘गोल्डन गैंग’ सुशिक्षित बेरोजगार ठेकेदारों के काम छीन रही है. शेष काम ग्राम पंचायत का प्रस्ताव दिखाकर ले जा रहे हैं. इसीलिए सुशिक्षित बेरोजगार अभियंता के पास कोई काम नहीं होने से बेकार हो रहे हैं.

    यह आरोप लगाकर आक्रमक बेरोजगार अभियंताओं ने बुधवार को जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी तुकाराम टेकाडे का घेराव किया. इस दौरान अभियंता व टेकाडे के बीच जमकर तू-तू मैं-मैं हुई. गाडगे नगर पुलिस को बुलाना पड़ा.

    अंतिम दिन ली सभा

    महाराष्ट्र राज्य ठेकेदार महासंघ ने जिला परिषद प्रशासन को दिए निवेदन में बताया कि जिला नियोजन 15 वें वित्त आयोग, 2515, 3054,5044, एसएलआर अन्य लेखाशीर्ष अंतर्गत आने वाले 1 से 3 लाख तक के निर्माण कार्य का ठेका यह लाइसेंसधारी  सुशिक्षित बेरोजगार अभियंताओं को दिए जाने का शासन नियम है. जिससे बढ़ती बेरोजगारी कुछ हद तक कम होगी. लेकिन आरोप है कि जिला परिषद में गब्बर हो गए पदाधिकारी व ठेकेदार ने सीधे अधिकारियों से हाथ मिलाकर ठेका परस्पर छीन लिया.

    जिला परिषद के काम वितरण समिति 31 मार्च से 31 मार्च ऐसा वर्षभर में सिर्फ 1 ही सभा लेती है. जिसमें से काम के प्रस्ताव दिखाकर ग्राम पंचायत को दिए जाते हैं. सभा में बुलाकर बेरोजगार अभियंताओं का मजाक उड़ाया जा रहा है, ऐसा महासंघ के राहुल सांडे, अक्षय खापरकर, उज्ज्वल पांडे ने कहा.

    पदाधिकारी फोन लगाकर धमकाते हैं

    सुशिक्षित बेरोजगार स्थापत्य अभियंता ठेकेदार के लिए शासन के 33 :33: 34 इस वितरण निर्णयानुसार 33 फीसदी काम सुशिक्षित अभियंताओं को देना अपेक्षित है, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं होता है. इन अभियंताओं ने एक काम का टेंडर डाला तो निविदा निकालने के अंतिम दिन अंतर वाला आनलाइन टेंडर किसने भरा यह देखने की व्यवस्था जिला परिषद के अधीक्षक अभियंता को होती है, लेकिन कुछ जिला परिषद के सदस्य व ठेकेदार अधीक्षक अभियंता की ओर से निविदा निकालने वाले अभियंता के नाम व फोन नंबर प्राप्त कर निविदा निकलने के पहले ही ठेकेदार अभियंता को निविदा पीछे लेने के लिए फोन लगाकर धमकी देते हैं. धमकी देने वाले यह सदस्य  कुछ अभियंताओं के घर तक पहुंचे है. ऐसा आरोप भी महासंघ के पदाधिकारियों ने किया है.

    टेबल पर हाथ पीटने से हंगामा

    इस चर्चा के दौरान एक अभियंता ने अतिरिक्त मुख्यकार्यकारी अधिकारी टेकाडे की टेबल पर हाथ पीट दिया जिससे टेकाडे आगबबूला हो उठे. जिन्होंने सीधे अभियंताओं से कह दिया कि यहां से निकल जाओ, तुम्हें यहां आने का कोई अधिकार नहीं है. इस बात से अभियंता भी भड़क उठे. जिससे दोनों के बीच जमकर तू-तू मैं-मैं हो गई. तनाव की स्थिति निर्माण होने से पुलिस को बुलाना पड़ा. थानेदार आसाराम चोरमले ने सभी अभियंताओं से चर्चाकर शांत किया

    सिर्फ काम वितरण का अधिकार

    मेरे पास सिर्फ काम की लिस्ट आती है. वह काम वितरण करने का अधिकार मुझे है. बाकी कुछ भी पता नहीं-तुकाराम टेकाडे, अतिरिक्त सीईओ