share market
File Photo

नयी दिल्ली. घरेलू शेयर बाजार (Share Market) में किसी बड़ी गतिविधियों के अभाव में इस सप्ताह वैश्विक घटनाक्रम खासकर अमेरिका में वित्तीय प्रोत्साहन और कोरोना टीके (Corona Vaccination) से जुड़ी खबरों से बाजार को दिशा मिलेगी। विश्लेषकों के अनुसार अवकाश के कारण कम कारोबार दिवस वाले सप्ताह के दौरान घरेलू बाजार में मुनाफावसूली भी देखने को मिल सकती है। क्रिसमस के मौके पर शेयर बाजार और वित्तीय बाजार शुक्रवार को बंद रहेंगे।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लि. के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘इस सप्ताह पर्याप्त नकदी, टीका जारी होने से जुड़ी सकारात्मक खबरें तथा अमेरिकी प्रोत्सोहन पैकेज को लेकर बढ़ती संभावना को देखते हुए बाजार में बढ़त का रुख रह सकता है। हालांकि इस सप्ताह से शुरू क्रिसमस अवकाश को देखते हुए मुनाफावसूली से इनकार नहीं किया जा सकता है।” बाजार में मासिक वायदा एवं विकल्प खंड के अनुबंध समाप्त होने के कारण भी उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। जियोजीत फाइनेंशयिल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘इस सप्ताह बाजार की नजर वैश्विक घटनाक्रमों पर होगी। आने वाले दिनों में अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज को लेकर निर्णय तथा ब्रेक्जिट समझौता देखने को मिल सकता है।”

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के निवेश प्रतिरूप पर भी निवेशकों की नजर होगी। बाजार में तेजी का एक प्रमुख कारण एफपीआई का निवेश रहा है। च्वाइस ब्रोकिंग के कार्यकारी निदेशक सुमित बगाडिया ने कहा, ‘‘निवेशकों की नजर कोविड-19 से जुड़ी गतिविधियों, प्रोत्साहन पैकेज और ब्रेक्जिट सौदे पर होगी।” सैमको सिक्योरिटीज की वरिष्ठ शोध विश्लेषक निराली शाह ने कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि फिलहाल बजार पर तेजड़िये हावी हैं…हालांकि मुनाफावसूली से इनकार नहीं किया जा सकता है।” पिछले सप्ताह बीएसई मानक सूचकांक 861.68 अंक यानी 1.86 प्रतिशत मजबूत हुआ।