CDS Bipin Rawat
File Pic

    नई दिल्ली: तमिलनाडु के सुलुर में हुए सैन्य हेलीकॉप्टर हादसे में तीनों सेनाओं के प्रमुख जनरल बिपिन रावत की मौत हो गई है। इस बात की पुष्टि भारतीय वायुसेना ने की। रावत के साथ सवार उनकी पत्नी मधुलिका समेत 11 अन्य लोगों की भी मौत हो गई है। वहीं विंग कमांडर वरुण सिंह का इलाज जारी है। सीडीएस रावत के निधन की खबर आते ही देश में शोक की लहार दौड़ गई है। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत तमाम नेताओं ने उनकी मौत पर शोक जताया है।

    निधन से मुझे गहरा दुख पहुंचा

    प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, “मैं तमिलनाडु में हेलीकॉप्टर दुर्घटना से बहुत दुखी हूं जिसमें हमने जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और सशस्त्र बलों के अन्य कर्मियों को खो दिया है। उन्होंने पूरी लगन से भारत की सेवा की। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं।”

    रावत के साथ वाली तस्वीर ट्वीट करते हुए उन्होंने आगे लिखा, “जनरल बिपिन रावत एक उत्कृष्ट सैनिक थे। एक सच्चे देशभक्त, उन्होंने हमारे सशस्त्र बलों और सुरक्षा तंत्र के आधुनिकीकरण में बहुत योगदान दिया। सामरिक मामलों पर उनकी अंतर्दृष्टि और दृष्टिकोण असाधारण थे। उनके निधन से मुझे गहरा दुख पहुंचा है। शांति।”

    पीएम ने लिखा, “भारत के पहले सीडीएस के रूप में, जनरल रावत ने रक्षा सुधारों सहित हमारे सशस्त्र बलों से संबंधित विविध पहलुओं पर काम किया। वह अपने साथ सेना में सेवा करने का एक समृद्ध अनुभव लेकर आए। भारत उनकी असाधारण सेवा को कभी नहीं भूलेगा।”

    रक्षामंत्री ने जताया शोक 

    सीडीएस बिपिन रावत की मौत पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शोक जताया है। सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, “तमिलनाडु में आज एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हेलीकॉप्टर दुर्घटना में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सशस्त्र बलों के जवानों के आकस्मिक निधन से गहरा दुख हुआ। उनका असामयिक निधन हमारे सशस्त्र बलों और देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है।” 

    उन्होंने आगे लिखा, “जनरल रावत ने असाधारण साहस और लगन से देश की सेवा की थी। पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में उन्होंने हमारे सशस्त्र बलों की संयुक्तता की योजना तैयार की थी।”

    देश के लिए दुखद दिन 

    सीडीएस रावत के निधन की खबर पर गृहमंत्री अमित शाह ने भी शोक जताया है। उन्होंने लिखा, “देश के लिए एक बहुत ही दुखद दिन क्योंकि हमने अपने सीडीएस जनरल बिपिन रावत जी को एक बहुत ही दुखद दुर्घटना में खो दिया है। वह सबसे बहादुर सैनिकों में से एक थे, जिन्होंने अत्यंत भक्ति के साथ मातृभूमि की सेवा की है। उनके अनुकरणीय योगदान और प्रतिबद्धता को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। मुझे गहरा दुख हुआ है।”

    उन्होंने आगे कहा, “मैं श्रीमती मधुलिका रावत और 11 अन्य सशस्त्र बलों के जवानों के दुखद निधन पर भी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। ईश्वर उन्हें इस दुखद क्षति को सहने की शक्ति प्रदान करें। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना।”

    असामयिक निधन से स्तब्ध और व्यथित

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट में लिखा, “जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका जी के असामयिक निधन से स्तब्ध और व्यथित हूं। देश ने अपने सबसे बहादुर सपूतों में से एक को खो दिया है। मातृभूमि के लिए उनकी चार दशकों की निस्वार्थ सेवा असाधारण वीरता और वीरता से चिह्नित थी। उसके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं।”

    उन्होंने लिखा, “हेलिकॉप्टर दुर्घटना में लोगों की जान जाने के बारे में जानकर मुझे बहुत दुख हुआ है। मैं अपने कर्तव्य का पालन करते हुए मरने वालों में से प्रत्येक को श्रद्धांजलि देने में साथी नागरिकों के साथ शामिल होता हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।”

    दुख की घड़ी में भारत एक साथ खड़ा है

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सीडीएस रावत के निधन पर कहा, “मैं जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। यह एक अभूतपूर्व त्रासदी है और इस कठिन समय में हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। अपनी जान गंवाने वाले अन्य सभी लोगों के प्रति भी हार्दिक संवेदना। इस दुख की घड़ी में भारत एक साथ खड़ा है।”