Pegasus Case Updates : Israel to review allegations after all-round criticism on Pegasus misuse
File Photo

    नई दिल्ली: जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस डील (Pegasus Spyware Deal) पर न्यूयॉर्क टाइम्स की नई रिपोर्ट  के बाद सियासी घमासान फिर शरू हो गया है। कांग्रेस एक बार फिर केंद्र पर हमलावर हो गई है। यूपी सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले इस खुलासे ने विपक्षी पार्टियों को सरकार को घेरने के लिए एक मुद्दा दे दिया है। राहुल गांधी सहित कांग्रेस ने केंद्र को आड़े हाथ लिया है। 

    यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि डिफेंस डील के रूप में भारत ने 2017 में इजरायल से पेगासस खरीदा: न्यूयॉर्क टाइम्स, इस तरह से साबित हो गया है कि चौकीदार ही जासूस है। दरअसल अमेरिकी समाचार पत्र की खबर के अनुसार, 2017 में भारत और इजराइल के बीच हुए लगभग दो अरब डॉलर के अत्याधुनिक हथियारों एवं खुफिया उपकरणों के सौदे में पेगासस स्पाईवेयर तथा एक मिसाइल प्रणाली की खरीद मुख्य रूप से शामिल थी।

    श्रीनिवास बीवी का ट्वीट-

    वहीं इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस मामले पर तीखा प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने हमारे लोकतंत्र की प्राथमिक संस्थाओं, राज नेताओं व जनता की जासूसी करने के लिए पेगासस ख़रीदा था। फ़ोन टैप करके सत्ता पक्ष, विपक्ष, सेना, न्यायपालिका सब को निशाना बनाया है। ये देशद्रोह है। मोदी सरकार ने देशद्रोह किया है।