dhankar-alwa
Pic: Social Media

    नई दिल्ली. सुबह की बड़ी खबर के अनुसार, स्वतंत्रता दिवस के कुछ दिन पूर्व, देश को आज अपना नया उपराष्ट्रपति (Vice President) मिलने वाला है। जी हां,  उपराष्ट्रपति चुनाव (Vice President Election 2022) के लिए संसद भवन में अब से कुछ देर में यानी आज सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे वोट डाले जाएंगे। इसके तुरंत बाद वोटों की गिनती भी की जाएगी। फिर देर शाम तक निर्वाचन अधिकारी देश के नए उपराष्ट्रपति के नाम की घोषणा भी कर देंगे।

    पता हो कि, इस बार मुकाबला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) और विपक्ष की संयुक्त उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा (Margaret Alva) के बीच हो रहा है। ऐसे में अगर आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो जाए तो, पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल धनखड़ की जीत थोड़ी ज्यादा सुनिश्चित लग रही है। यह भी जान लें कि, मौजूदा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 11 अगस्त को खत्म हो रहा है और उससे पहले उपराष्ट्रपति चुन लिए जाएंगे।

    कब और क्यों होता है चुनाव?

    संविधान के नियमों के मुताबिक, उपराष्ट्रपति का कार्यकाल पूरा हो जाने के 60 दिनों के भीतर चुनाव कराना अहम् होता है।

    उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए चुनाव आयोग एक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त करता है।

    उक्त अधिकारी किसी एक सदन का सेक्रेटरी जनरल जरुर होता है।

    निर्वाचन अधिकारी फिर चुनाव को लेकर पब्लिक नोट जारी करता है और उम्मीदवारों से उनके नामांकन मंगवाता है।

    कौन डालेगा वोट?

    चूँकि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति अहम संवैधानिक पद हैं।

    लिहाजा,चुनाव जनता की बजाय उनके द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि करते हैं।

    उपराष्ट्रपति चुनाव में सिर्फ सांसद ही वोट डाल सकते हैं। 

    उपराष्ट्रपति के चुनाव में राज्यसभा और लोकसभा के मनोनीत सदस्य भी वोट डाल सकते हैं।