Clash in JNU

    Loading

    नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) परिसर में विद्यार्थियों के दो समूहों के बीच गुरुवार को झगड़ा हो गया। जिसमें दो छात्र घायल हो गए हैं। निजी विवाद को लेकर हुई इस झड़प में बाहरी लोगों की भी संलिप्तता थी। मामले की जांच के लिए जेएनयू परिसर में अब विश्वविद्यालय के अंदर पुलिस की मौजूदगी है।

    सोशल मीडिया पर सामने आए कुछ वीडियो में दिख रहा है कि कुछ छात्र डंडे लेकर परिसर में भाग रहे हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

    पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दो छात्रों के बीच निजी मामले को लेकर झगड़ा हुआ था, जिसके बाद उनके दोस्त उसमें शामिल हो गए। लड़ाई के दौरान, दो विद्यार्थी मामूली रूप से घायल हो गए।

    उन्होंने कहा, “हमें इस मामले में अब तक कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है। लड़ाई दो छात्रों के बीच थी और इसमें कोई राजनीतिक समूह शामिल नहीं है। यह दोनों का निजी विवाद है।”

    पुलिस अधिकारियों ने कथित तौर पर वाहनों के प्रवेश और निकास को छोड़कर जेएनयू परिसर के सभी गेट बंद कर दिए हैं।

    जेएनयू छात्र संघ काउंसलर अनघा प्रदीप ने कहा कि, “हमें कल रात नर्मदा छात्रावास में हंगामे का संदेश मिला और एक छात्र को बुरी तरह पीटा गया। इससे पहले सतलुज हॉस्टल में मारपीट भी हुई थी। सुरक्षा कार्यालय को सूचित किया गया लेकिन न तो उन्होंने और न ही जेएनयू प्रशासन ने छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए।”

    उन्होंने कहा, “जब हमें दोपहर में एक संदेश मिला कि बड़ी कारों में लाठी और ट्यूबलाइट चलाने वाली भीड़ यहां आ रही है, तो जेएनयूएसयू अध्यक्ष ने दिल्ली पुलिस को सूचित किया। जेएनयू सुरक्षा ने हमें बार-बार विफल किया है।”