Nagpur Corona Update

  • नहीं टूट रही कोरोना चेन
  • संक्रमण बढ़ने से फिर घटा रिकवरी रेट

नागपुर. कोरोना की चेन टूटने की बजाय एक बार फिर से मजबूत होने लगी हैं. लोगों की लापरवाही और प्रशासनिक शिथिलता का ही नतीजा है कि मरीजों की संख्या के साथ ही मृतकों की संख्या बढ़ने लगी हैं. शुक्रवार की मध्य रात्रि 12 बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 984 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई. वहीं 10 मरीजों ने दम तोड़ दिया. फिलहाल जिले में 7,934 एक्टिव केसेस हैं. संक्रमण बढ़ने के साथ ही एक बार फिर रिकवरी रेट घटकर 91.76 फीसदी हो गया है.

दिसंबर-जनवरी में मरीज कम होने की वजह से लोगों में लापरवाही बढ़ी. नियमों के पालन सहित सतर्कता को लेकर बरती गई लापरवाही ही है, जो आज देखने को मिल रही है. जिले में 24 घंटे के भीतर 13,027 लोगों की जांच की गई. यह अब तक की सबसे ज्यादा टेस्टिंग है. इसमें प्राइवेट लैब में सबसे अधिक 5,090 लोगों की जांच की गई. जिसमें 4,850 लोग पॉजिटिव निकलें. जबकि 3,284 एंटिजन टेस्ट किये गये. इसमें 3,244 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई.

कुल पॉजिटिवि में सिटी में 734 और ग्रामीण में 247 पाये गये. इस तरह अब तक जिले में संक्रमितों की संख्या 1,48,889 हो गई है. वहीं 10 मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही अब तक 4,330 की जान वाइरस ले चुका है. इस बीच 485 मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दी गई. इस तरह अब तक जिले में 1,36,625 लोग ठीक हो चुके हैं.

24 घंटे बाद जारी की जा रही रिपोर्ट 

कोरोना से संबंधित जानकारी के लिए सिविल सर्जन कार्यालय के माध्यम से सिटी और ग्रामीण दोनों भागों के आंकड़े जारी किये जाते हैं. पहले चौबीस घंटे के आंकड़े शाम 5 से अगली शाम 5 बजे तक दिये जाते थे. लेकिन पिछले दो दिनों से बीती मध्य रात्रि 12 बजे तक प्राप्त जानकारी के अनुसार रिपोर्ट जारी की जा रही है. शनिवार को जो आंकड़े जारी किये गये, वह शुक्रवार की मध्य रात्रि 12 बजे तक के है. जबकि रात 12 बजे से पूरे दिनभर और रात 12 बजे  की जानकारी रविवार को प्राप्त होगी. प्रशासन द्वारा किये गये बदलाव की वजह से समझ से परे बताई जा रही है. 

2 महीने से बंद अस्पताल, फिर भी 48 मरीज भर्ती 

वर्तमान में मनपा द्वारा कोविड उपचार के लिए तीन अस्पतालों में सुविधा उपलब्ध कराई गई है. इनमें पांचपावली ,आयसोलेशन अस्पताल इमामवाड़ा और इंदिरा गांधी अस्पताल का समावेश है.जबकि आयुष अस्पताल सदर पिछले 2 महीने से बंद है. इसके बावजूद प्रशासन द्वारा जारी सूची में आयुष अस्पताल में 48 कोविड मरीज भर्ती बताए जा रहे हैं. वहीं अब तक 1,005 मरीजों को छुट्टी दिये जाने का भी उल्लेख है. इस संबंध में मनपा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोई जानकारी नहीं होने की बात सामने आई.