आम रोगियों को मिलेगी राहत, मनपा के सभी अस्पताल खुलेंगे

  • कई ओपीडी बंद पड़े थे

पुणे. शहर में कोरोना प्रकोप के चलते कोरोना संक्रमित लोगों की तादाद तेजी से बढ़ती गई. इसे रोकने के लिए महापालिका प्रशासन ने कृति प्रारूप बनाया. राज्य सरकार के निर्देशानुसार मनपा प्रशासन ने यह कदम उठाया. इसके तहत कोविड सेंटर और फ्लू क्लिनिक बनाए गए हैं. इनकी संख्या करीब 74 है. इन सभी अस्पतालों में नागरिकों को मुफ्त में स्वास्थ्य के उपचार दिए जा रहे हैं. 

इसमें से कई अस्पताल बंद अवस्था में थे. इसको लेकर मनपा की आलोचना हो रही थी. कर्मी ना होने के कारण आम लोगों के लिए कई अस्पताल बंद अवस्था में पड़े थे. इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन अब कोरोना का प्रकोप कम हुआ है. साथ ही कर्मी भी उपलब्ध हैं. इस वजह से अब पुणेकरो की सेवा के लिए मनपा सभी अस्पताल शुरू रहेंगे. ऐसी जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई. 

मनपा के 74 अस्पताल 

शुरू शुरू में खास तौर पर शहर के मध्यवर्ती इलाके में कोरोना का समाज संसर्ग बढ़ता जा रहा था. कोरोना की वजह से अब तक करीब 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. तो हजारों लोगों कार उपचार चल रहा है. वजह से यह प्रकोप रोकने के लिए प्रशासन ने कृति प्रारूप बनाया गया. इसके अनुसार अब मनपा के सभी यानि 74 अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधा मुफ्त में देने का फैसला मनपा प्रशासन ने लिया था. 

कर्मी न होने से बंद थे  

महापालिका प्रशासन के जानकारी के अनुसार मनपा के अस्पतालों में उपचार लेते समय नागरिकों को पंजीयन करना पड़ता है. साथ ही शुल्क भरने के लिए भी कतार में खड़ा रहना पड़ता है, लेकिन इससे कोरोना का संसर्ग हो सकता है. इस वजह से पंजीयन करना और शुल्क भरना मुफ्त में किया गया है. इस वजह से कोई प्रक्रिया ना कर सुविधा देने का फैसला प्रशासन ने लिया था, लेकिन कर्मी ना होने के कारण कई अस्पताल बंद अवस्था में पड़े थे. इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था. लेकिन अब कोरोना का प्रकोप कम हुआ है. साथ ही कर्मी भी उपलब्ध हैं. इस वजह से अब पुणेकरो की सेवा के लिए मनपा सभी अस्पताल शुरू रहेंगे. ऐसी जानकारी मनपा प्रशासन द्वारा दी गई.