Glenn Maxwell
PTI Photo

Loading

गुवाहाटी. आक्रामक बल्लेबाजी के पर्याय ग्लेन मैक्सवेल के 48 गेंद में नाबाद 104 रन की मदद से आस्ट्रेलिया ने बेहद रोमांचक तीसरे टी20 मैच में मंगलवार को भारत को आखिरी गेंद पर पांच विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में वापसी की। गेंदबाजी के दौरान आखिरी ओवर में 30 रन लुटाने वाले मैक्सवेल ने बल्लेबाजी में इसकी पूरी भरपाई करते हुए एक समय असंभव दिख रहे 223 रन के लक्ष्य तक आस्ट्रेलिया को पहुंचाया। पहले दोनों मैच हार चुकी आस्ट्रेलिया को आखिरी दो ओवर में 43 रन चाहिये थे।

कप्तान मैथ्यू वेड ने 19वें ओवर में अक्षर पटेल को एक छक्का और एक चौका लगाया जबकि विकेटकीपर ईशान किशन की चूक से चार रन बाय के रूप में मिले। अब आखिरी ओवर में 22 रन की जरूरत थी और हाल ही में वनडे विश्व कप में दोहरा शतक जड़कर आस्ट्रेलिया को अफगानिस्तान पर ऐसी ही चमत्कारिक जीत दिलाने वाले मैक्सवेल ने प्रसिद्ध कृष्णा को तीसरी गेंद पर छक्का और आखिरी तीन गेंदों पर चौके जड़ते हुए टीम को पांच विकेट पर 225 रन तक पहुंचा दिया। मैक्सवेल ने 48 गेंद में आठ चौकों और आठ छक्कों की मदद से 104 रन बनाये। उन्होंने अपना शतक 47 गेंद में पूरा करके आस्ट्रेलिया के लिये सबसे तेज टी20 शतक के जोश इंगलिस और आरोन फिंच के रिकॉर्ड की बराबरी की। वेड ने 28 और विश्व कप फाइनल के नायक ट्रेविस हेड ने 35 रन की पारी खेली।

इससे पहले रूतुराज गायकवाड़ के 57 गेंद में नाबाद 123 रन की मदद से भारत ने तीन विकेट पर 222 रन बनाये थे। गायकवाड़ ने अपनी पारी में 13 चौके और सात छक्के लगाये और आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 क्रिकेट में किसी भारतीय बल्लेबाज का यह पहला शतक था। गायकवाड़ ने 20वें ओवर में ग्लेन मैक्सवेल की गेंदों की जमकर धुनाई करते हुए 30 रन बनाये। कप्तान मैथ्यू वेड का अनियमित आफ स्पिनर को 20वां ओवर देने का फैसला गलत साबित हुआ।

अतिरिक्त उछाल और स्विंग वाले विकेट पर पहले बल्लेबाजी के लिये भेजी गई भारतीय टीम की शुरूआत धीमी रही। फॉर्म में चल रहे यशस्वी जायसवाल (छह) और ईशान किशन (0) सस्ते में आउट हो गए। इसके बाद कप्तान सूर्यकुमार यादव ने 29 गेंद में 39 रन बनाये जिसमें दो छक्के और पांच चौके शामिल थे। अपना पहला मैच खेल रहे तेज गेंदबाज आरोन हार्डी ने उन्हें पवेलियन भेजा। गायकवाड़ ने मोर्चा संभालते हुए पारी के सूत्रधार की भूमिका निभाई। धीमी शुरूआत के लिये अमूमन आलोचना झेलने वाले गायकवाड़ ने बेहद आक्रामक पारी खेलकर अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया। आखिरी छह ओवरों में उन्होंने मैदान के चारों ओर शॉट्स लगाये। उन्होंने पहला पचासा 32 गेंद में और अगला 20 गेंद में पूरा किया। उन्होंने आखिरी ओवर में मैक्सवेल को छक्का लगाकर अपना शतक पूरा किया। इस ओवर में उन्होंने दो छक्के और लगाकर भारत को 220 के पार पहुंचाया। (एजेंसी)