ashwin
File Photo

    नई दिल्ली: भारतीय टीम के दिग्गज दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने अब एक बड़ा खुलासा किया है, जिसके बारे में शायद ही किसी को पता होगा। उन्होंने बताया कि वह साल 2018 में क्रिकेट छोड़ने के विचार में थे, वह खेल से संन्यास (Ravichandran Ashwin Retirement) लेने के बारे में सोच रहे थे। उस समय अश्विन खबर फॉर्म से गुजर रहे थे, ऐसे में उनका उस कठिन समय में किसी ने साथ नहीं था, किसी ने उनकी मदद करने की भी कोशिश नहीं की। जिसकी वजह से वह काफी परेशान भी रहने लगे थे। 

    संन्यास लेने का आया ख्याल 

    उस दौर में अश्विन महज़ छह गेंद करने के बाद खुद को काफी थका हुआ महसूस करते थे। उन्हें ऐसा लगता था कि अब उन्हें एक ब्रेक की ज़रूरत है। हालांकि, इतनी कठिन परिस्थिति को सामना कर उन्होंने शानदार वापसी की है। इस साल में हुए टी-20 वर्ल्ड कप में उन्होंने भारतीय टीम में जगह बनाई। वहीं अब वह अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में भी टीम का हिस्सा हैं। जबकि टेस्ट टीम में अश्विन को सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है। उनका तजुर्बा और शानदार गेंदबाजी की वजह से कई बार भारतीय टीम ने हारा हुआ मैच अपने कब्जे में किया है। 

    जल्द थक जाते हैं 

    ईएसपीएन क्रिकइनफो से बातचीत करते हुए अश्विन ने बताया कि, साल 2018 से 2020 के दौरान उन्हें कई तरह ख्याल आते हैं, जिनमें में से एक क्रिकेट से संन्यास लेने के बारे में सोचना भी था। इस दौरान वह खुद पर काफी काम भी कर रहे थे, वह खुद को और भी ज़्यादा बेहतर बनाने ला प्रयास कर रहे थे। लेकिन, उनके लिए चीजें और भी मुश्किल होती जा रही थीं। उनके घुटने का दर्द बढ़ने पर वो छोटी जंप लेकर गेंदबाजी करने की कोशिश करते थे, लेकिन वह जल्दी थक जाते थे।

    नहीं जताया गया भरोसा, मदद के लिए नहीं आया सामने 

    अश्विन आगे बताते हैं कि, उनकी चोट को लेकर कोई भी खिलाड़ी उनके लिए संवेदनशील नहीं थे। उनकी मदद के लिए कोई भी खिलाड़ी समाने कभी नहीं आए। उन्होंने कहा “मुझे लगता है कि कई खिलाड़ियों पर भरोसा जताया गया था, लेकिन मेरे साथ ऐसा नहीं हुआ। मैंने कुछ कम नहीं किया था, मैंने टीम को कई मैच जिताए, लेकिन मुझ पर भरोसा नहीं जताया गया।” 

    पापा को था पूरा भरोसा 

    हालांकि, उस कठिन दौर में भी अश्विन के पापा को उन पर पूरा भरोसा था। उनका मानना था कि उनका बेटा एक दिन ज़रूर धमाकेदार वापसी करेगा और ऐसा हुआ भी। इस साल उन्होंने काफी शानदार प्रदर्शन दिखाया है।