सफारी पार्क के सलाहकारों के साथ सीईओ पांडेय ने की बैठक, मार्च 2024 में कार्यान्वित होगा सफारी पार्क

    औरंगाबाद : औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (Aurangabad Smart City Development Corporation) द्वारा सफारी पार्क (Safari Park) प्रकल्प का काम शुरु किया गया है। चार चरणों में इस प्रकल्प का काम पूरा किया जाएगा। इसमें सफारी पार्क का गेट, संरक्षित दीवार, गेट, रास्ते, बिजली, पानी आदि कार्य इसके अंतर्गत किए जाएंगे। आगामी दो साल में सफारी पार्क शहरवासियों के लिए कार्यान्वित होगा। इस प्रकल्प के काम का जायजा लेने महानगरपालिका कमिश्नर और स्मार्ट सिटी के सीईओ आस्तिककुमार पांडेय (CEO Astikkumar Pandey) के अध्यक्षता में सफारी पार्क के लिए नियुक्त किए गए। सलाहकारों के साथ एक बैठक स्मार्ट सिटी कार्यालय में संपन्न हुई।

    बैठक में सीईओ पांडेय के अलावा अतिरिक्त सीईओ अरुण शिंदे, शहर अभियंता सखाराम पानझडे, सलाहकार ब्रिजराज शर्मा, डॉ. के एम सोनी, रोमल मेहता, पीआर मेहता, प्रेम बालानी, समीर जोशी, स्मार्ट सिटी के प्रकल्प व्यवस्थापक इमरान खान उपस्थित थे। बता दे कि राज्य सरकार के सहयोग से महानगरपालिका कमिश्नर और स्मार्ट सिटी के सीईओ आस्तिककुमार पांडेय के देखरेख में स्मार्ट सिटी ने सफारी पार्क का प्रकल्प हाथ में लिया है। मिटमिटा परिसर में 60 एकड़ क्षेत्र पर सफारी पार्क निर्माण किया जा रहा है। इस प्रकल्प का इन दिनों काम जारी है। 

    बैठक में उपस्थित इस प्रकल्प के सलाहकार ब्रिजराम शर्मा ने प्रकल्प के निर्माण पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि, इस प्रकल्प के निर्माण के लिए  4 चरणों में काम का विभाजन किया गया है। इसमें प्रथम चरण में सफारी पार्क के लिए 4.25 किलोमीटर के तीन संरक्षक दीवार, लेवलिंग और 5 गेट शामिल है। इसमें 2 बाजू के संरक्षक दीवार तैयार किए गए है। प्रकल्प परिसर के निकट स्थित किसान सफारी पार्क के बीचो-बीच के रास्ते का इस्तेमाल करते है। इन किसानों को पर्यायी रास्ते का उपलब्ध कराने का आश्वासन स्मार्ट सिटी ने दिया था। इस आश्वासन को पूरा करते हुए स्मार्ट सिटी ने पर्यायी सड़क का काम शुरु किया है। इस सड़क का काम पूरा होने के बाद तिसरी संरक्षक दीवार का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ सफारी पार्क के लिए मुख्य प्रवेश द्वार, सर्विस गेट, हाईव गेट, पार्किंग गेट, इमरजेंसी के लिए एक गेट इस तरह 5 गेट का निर्माण किया जाएगा। इसमें एक गेट का काम पूरा हो चुका है। सफारी पार्क के लेवलिंग का काम भी पूरा होने की जानकारी बैठक में सलाहाकर ब्रिजराज शर्मा ने दी। 

    दूसरे चरण मेंं होगा अंतर्गत सडकों काम 

    सफारी पार्क प्रकल्प के दूसरे चरण में अंतर्गत सडकों का काम पूरा किया जाएगा। इसमें मुख्य और सर्विस रोड शामिल रहेंगी। इसके साथ ही पानी, ड्रेनेज, बिजली की अंतर्गत वितरण व्यवस्था और व्यवस्थापन जारी है। साथ ही कचरा व्यवस्थापन भी इसमें शामिल है। गिले कचरे का व्यवस्थापन करने के लिए सफारी पार्क में कंपोस्टिंग किया जाएगा। सफारी पार्क में सुका कचरा व्यवस्थापन का काम महानगरपालिका के घनकचरा व्यवस्थापन विभाग द्वारा किया जाएगा। वहीं, सफारी पार्क की खुद की अंतर्गत मल निसारण पानी प्रक्रिया यंत्रणा कार्यान्वित रहेंगी। जिसके चलते इस्तेमाल किया हुआ पानी दूबारा प्रक्रिया कर पौधों और सफारी पार्क में अन्य कामों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। 

    प्राणियों के लिए किया जाएगा 84 घरों का निर्माण 

    सलाहकार ब्रिजराम शर्मा ने बताया कि तिसरे चरण में प्राणियों के लिए 84 घरों का निर्माण किया जाएगा। विविध प्रजाति के प्राणियों के विशेषता के अनुसार घरों की डिजाईन तैयार की गई है। वहीं, सफारी पार्क के प्रशासन के लिए इमारत, स्टोअर रुम, फुड कोर्ट, सफारी पार्क के विविध विभागों के लिए इमारत, प्रसाधन गृह, दुकानों का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए निविदा मंजूर होने के बाद ठेकेदार नियुक्त किए गए है। उसका काम जारी है। 

    मार्च 2024 तक पूरा होगा सफारी पार्क का काम 

    सफारी पार्क के चौथे चरण में दिशादर्शक और जानकारी देने वाले बोर्ड लगाए जाएंगे। वहीं, सफारी पार्क में स्थित प्राणी की मौत होने पर उसके बीमारी का असर न हो, इसके लिए शवदाहिनी बिठायी जाएगी। इस तरह मार्च 2024 तक सफारी पार्क शहरवासियों के लिए कार्यान्वित होने की जानकारी इस प्रकल्प के सलाहकार ब्रिजराज शर्मा ने दी।