Collector Sunil Chavan gave instructions to the officials, said - speed up the work of the new water supply scheme
File Photo

    औरंगाबाद : औरंगाबाद शहर (Aurangabad City) को प्रचुर मात्रा में पानी उपलब्ध कराने के लिए 1,680 करोड़ रुपये की नई जलापूर्ति परियोजना (Water Supply Project) लागू की जा रही है। औरंगाबाद शहर दिन-ब-दिन तेजी से विकसित हो रहा है। औरंगाबाद शहर के विस्तार और यहां के नागरिकों को भरपूर पानी उपलब्ध कराने के लिए नई जलापूर्ति योजना पर काम जोरों पर है।

    जिला कलेक्टर (District Collector) सुनील चव्हाण (Sunil Chavan) ने आज अधिकारियों को क्षेत्र के नागरिकों को भरपूर पानी उपलब्ध कराने के लिए योजना के तहत काम में तेजी लाने का निर्देश दिया। कलेक्टर चव्हाण को  महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के कार्यकारी अभियंता अजय सिंह ने योजना के तहत चल रहे सभी कार्यों का विवरण दिया। जिला चव्हाण ने मुख्य बैलेंसिंग टैंक के बाद नवनिर्मित पांच लाख लीटर  और 664 मीटर ऊंचाई पर 11.57 दल मुख्य बैलेंसिंग टैंक, 392 दल क्षमता जल शोधन केंद्रों के कार्यों, नई जलापूर्ति योजना के लिए आवश्यक पाइपलाइन निर्माण कारखाने की वर्तमान स्थिति का निरीक्षण किया। उन्होंने जीवीपीआर कंपनी  के समन्वयक प्रकाश अवधूते को भी पाइपों पर जल्द काम शुरू करने के निर्देश दिया। जिला कलेक्टर ने योजनान्तर्गत सभी कार्यों का निरीक्षण किया और शहर को पानी की आपूर्ति करने वाले पुराने मुख्य बैलेंसिंग टैंकों का भी निरीक्षण किया। 

    इस अवसर पर महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। गौरतलब है की शहर की गंभीर पेयजल समस्या हल करने के लिए राज्य सरकार ने 1680 करोड़ की योजना का काम हाथ मे लिया है।  राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, जिले की पालक मंत्री सुभाष देसाई, महानगरपालिका कमिश्नर अस्तिक कुमार पांडे योजना को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं।