Maharashtra bandh got better support in Aurangabad

    औरंगाबाद : यूपी (UP) के लखीमपुर (Lakhimpur) में हुए किसानों की हत्याकांड के  खिलाफ राज्य के महाविकास आघाडी सरकार (Maha Vikas Aghadi Government)में शामिल शिवसेना, कांग्रेस और  एनसीपी की ओर से महाराष्ट्र बंद (Maharashtra Bandh) का ऐलान किया गया था। बंद को औरंगाबाद में जोरदार समर्थन मिला। शहर के प्रमुख बाजरों में दोपहर तक व्यापार पूरी तरह  बंद रहे। बंद को सफल बनाने के लिए शिवसेना, एनसीपी और  कांग्रेस के नेता सड़क  पर उतरे। उधर, शहर सहित जिले के सभी तहसीलों में बंद को जोरदार समर्थन मिला। ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापार सामान्य  रुप से जारी थे।

    सोमवार की सुबह महाविकास आघाडी के नेताओं ने पैठण गेट से शहागंज प्रमुख व्यापार पेठ तक मोर्चा  निकालकर व्यापारियों को बंद में शामिल होने की अपील की। मोर्चा का नेतृत्व शिवसेना के जिला प्रमुख अंबादास दानवे, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले, एनसीपी के कैलास पाटिल, कांग्रेस शहराध्यक्ष हिशाम उस्मानी, पूर्व मेयर नंदकुमार घोडेले ने नेतृत्व किया। मोर्चा के बाद प्रमुख व्यापार पेठ दोपहर तक बंद रहे। हमारे संवाददाता ने शहर के सिडको-हडको, टीवी सेंटर, जालना रोड, रेलवे स्थानक, बस स्थानक, मुकुंदवाडी, गारखेडा परिसर का दौरा करने पर बंद को बेहतर समर्थन दिखाई  दिया।

    क्रांति चौक में संपन्न हुई श्रध्दांजलि सभा 

    लखीमपुर की घटना में अपनी जान गंवाएं किसानों को श्रध्दांजली अर्पित करने के लिए शहर के क्रांति चौक में महाविकास आघाडी द्वारा शोकसभा का आयोजन किया गया था। इस शोकसभा में महाविकास आघाडी के नेताओं ने बड़ी संख्या में उपस्थिति दर्ज कराई। शोकसभा में सभी नेताओं  ने 2 मिनट शांति से खड़ेे रहकर  लखीमपुर घटना में अपनी जान गंवाएं  किसानों को श्रध्दांजली अर्पित की। इस अवसर पर पूर्व सांसद चन्द्रकांत खैरे, शिवसेना जिला प्रमुख अंबादास दानवे, कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले, शहराध्यक्ष हिशाम उस्मानी, प्रकाश मुगदिया, एनसीपी जिलाध्यक्ष कैलास पाटिल, शहराध्यक्ष विजय सालवे, प्रदेश उपाध्यक्ष कदीर मौलाना,  पूर्व शहराध्यक्ष मुश्ताक अहमद आदि प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

    शोकसभा में अपने संबोधन में महाविकास आघाडी सरकार के नेताओं ने यूपी में आए दिन बिगड़  रही कानून व्यवस्था पर चिंता जताकर लखीमपुर की घटना के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। शिवसेना के वरिष्ठ नेता चन्द्रकांत खैरे ने यूपी पुलिस द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी और  प्रियंका गांधी के साथ किए अभ्रद व्यवहार पर योगी सरकार को लताडा। किसानों को खत्म करने का षडयंत्र भाजपा सरकार ने रचा है। उसकी शुरुआत लखीमपुर से हुई है। ऐसे में हम सबको एक मंच पर आकर भाजपा को सबक सिखाने की जरुरत है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले ने महाराष्ट्र बंद के लिए मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे द्वारा की गई पहल पर उनका आभार मानकर केंद्र की मोदी सरकार को किसान विरोधी बताया। 

    मुकुंदवाडी में बंद रहा सफल 

    शहर के मुकुंदवाडी परिसर में बंद को जोरदार समर्थन मिला। बंद के बाद दोपहर में शिवाजी महाराज की प्रतिमा के पास लखीमपुर की घटना में अपनी जान गंवाएं किसानों को श्रध्दांजली अर्पित की गई। इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री जयसिंह  गायकवाड़  पाटिल, महानगरपालिका में कांग्रेस के पूर्व विरोधी पक्ष नेता भाउसाहाब जगताप, कमलाकर जगताप, मोतिलाल जगताप, बाबासाहाब डांगे, बालूलाल गुर्जर, अशोक डोल, संजय जगताप, पप्पू ठुबे, लक्ष्मण पिवल, भाउसाहाब राते, राधाकिसन गायकवाड, महेमुद टेलर, भारत जावले, प्रशांत जगताप आदि उपस्थित थे।