Murder

Loading

भंडारा. पवनी तालुका के कलेवाड़ा में पेंटर धर्मेंद्र शंकर भोवते की जघन्य हत्या की घटना का खुलासा 5 फरवरी को हुआ था. अडयाल पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया था. मामले की जांच स्थानीय अपराध शाखा को सौंपी गई. क्राइम ब्रांच ने जांच के बाद महज आठ घंटे में हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी का नाम भावामल जामुनटोला जि. मंडला (मध्यप्रदेश) ह.मु. कलेवाडा निवासी सुरेश महुसिंग कुंजाम (27) कालेवाड़ा है.

कलेवाड़ा में पेंटर का काम करने वाले धर्मेंद्र भोवते की 4 फरवरी की रात ईंट से बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. घटना अगले दिन 5 फरवरी को सामने आयी. विनोद शंकर भोवते की शिकायत पर अडयाल पुलिस स्टेशन में हत्या का मामला दर्ज किया गया. इस अपराध की जांच स्थानीय अपराध शाखा को सौंपी गई. अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक नितिन कुमार चिंचोलकर, सहायक पुलिस निरीक्षक नितीनचंद्र राजकुमार, धनंजय पाटील मौके पर पहुंचे. तुरंत अलग-अलग टीमें बनाकर आरोपी की पहचान करने का काम किया गया. जानकारी मिली की मृतक का दोस्त सुरेश कुंजाम गांव में मौजूद नहीं है, पुलिस को उस पर शक हुआ.

पता चला कि मध्यप्रदेश से गन्ना काटने के लिए कलेवाड़ा आया सुरेश कुंजाम नागपुर जा रहा था. फिर स्थानीय अपराध शाखा की एक टीम को रवाना किया गया और नागपुर रेलवे स्टेशन से सुरेश कुंजाम को गिरफ्तार कर लिया गया. जब उसे विश्वास में लेकर पूछताछ की गई तो उसने मामूली झगड़े के चलते धर्मेंद्र भोवते की ईंट से कुचलकर जघन्य हत्या करने की बात कबूल कर ली. आरोपी कुंजाम को अडयाल पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया.

उक्त प्रदर्शन पुलिस अधीक्षक लोहित मतानी, अपर पुलिस अधीक्षक ईश्वर कातकडे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक नितिन कुमार चिंचोलकर, सहायक पुलिस निरीक्षक नितिनचंद्र राजकुमार, धनंजय पाटिल, पुलिस हवलदार रोशन गजभिये, प्रशांत कुरंजेकर, अजय बारापात्रे, नंदकिशोर मारबते, सुभाष रहांगडाले, शैलेश बेदुरकर, जगदीश श्रावणकर, कौशीक गजभिये, जितेंद्र वैद्य ने किया.