Chandpur, Bhandara

  • जिला प्रशासन ने कसी कमर

भंडारा. नववर्ष आगमन को यादगार बनाने जश्न मनाने के लिए भंडारा जिले के पर्यटन स्थल जैसे, रावणवाड़ी जलाशय, चांदपुर जलाशय, कोका जंगल, नागझिरा जंगल, कोरंबी आदि स्थानों में बड़ी संख्या में भारी भीड़ जुटती है. कोरोना त्रासदी के कम होने के बाद जनजीवन सामान्य होता जा रहा है. जिससे 31 दिसंबर व 1 जनवरी को पर्यटन स्थलों के फिर से गुलजार होने की उम्मीद थी. जिला प्रशासन ने एहतियात बरतने का फैसला लिया है. रावणवाडी, कोका जंगल एवं नागझीरा जंगल में धारा 144 लगाई है. प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि भंडारा जिले में कोरोना त्रासदी का नियंत्रण में रखने की दृष्टि से यह फैसला लिया है.

Koka jungle

बाहरी सैलानियों विशेष ध्यान

जिला प्रशासन ने प्रमुख पर्यटक स्थलों पर धारा 144 लगाने का फैसला मुख्य रूप से बाहरी जिले के सैनालियों को ध्यान में रखते हुए लिया है. नागपुर शहर में रात्रि 11 बजे से सुबह 6 बजे के दौरान कर्फ्यू लागू है. जिससे इअर एंड एवं न्यू इअर सेलिब्रेशन के लिए नागपुर शहर के लोग भंडारा जिले में दाखिल हो सकते हैं. यह सैलानी अपने साथ कोरोना न लेकर आए. इस आशंका से भंडारा जिला प्रशासन ने कदम उठाया है. जिला प्रशासन ने कहा है कि जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की संख्या कम हुई है. इस स्थिति को नियंत्रित रखने आवश्यक सावधानी बरतना जरूरी है. नववर्ष सेलीब्रेशन के आड में कोरोना प्रसार फैल सकता है.

Korambhi Devi Hill

कड़ी कार्रवाई की चेतावनी

सार्वजनिक शांति व सुववस्था बनाए रखने फौजदारी प्रकिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत भंडारा जिले के रावणवाडी, कोका जंगल व नागझिरा जंगल में 30 दिसंबर 2020 से 1 जनवरी 2021 तक रात्रि 11 बजे से सुबह 6 बजे तक मनाई आदेश लागू किया गया है. आदेश शासकीय/ निमशासकीय कर्मचारियों की ड्यूटी पर लागू नहीं होगी. आदेश का उल्लंघन होने पर फौजदारी प्रकिया संहिता प्रावधान के अनुसार कारवाई करने की चेतावनी अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी शिवराज पडोले ने दी है.

Rawanwadi