बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, अग्नीपथ के खिलाफ कांग्रेस का निषेध आंदोलन, घुग्घुस में काले फीते लगाकर किया विरोध

    चंद्रपुर. केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से देश भर में दिनों दिन महंगाई बढ रही है, किंतु इस पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है. इसके अलावा बेरोजगारी बढ रही है, अग्नीपथ के नाम पर केंद्र ने सैनिकों के साथ खिलवाड शुरु किया है, ईंधन की मूल्य वृध्दि ने गृहणियों का बजट गडबडा दिया है, जीएसटी, बिजली बिलों में 20 प्रतिशत वृध्दि आदि की खिलाफत करने के लिए आज जिले भर में कांग्रेस ने विरोध प्रदर्शन कर सरकार का कडा विरोध किया है.

    देश वासियों को अच्छे दिनों का सपना दिखाकर मोदी सरकार ने सत्ता हासिल की. किंतु सरकार हर स्तर पर असफल रही है पिछले 8 वर्षो में महंगाई अपने चरम पर है. जीवनावश्यक वस्तुओं के दाम बढे है इसकी खिलाफत करने के लिए शहर जिला कांग्र्रेस कमेटी की ओर से जटपुरा गेट परिसर के राष्ट्रपिता म. गांधी पुतला परिसर में केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन किया.

     इस अवसर पर कांग्रेस पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर घोषणाबाजी की. पथनाट्य के माध्यम से केंद्र सरकार की गलत नीतियों के विरोध में जनजागृति की गई. आंदोलन के पश्चात शहर पुलिस ने कांग्रेस पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेना शुरु किया. आंदोलन में शहर अध्यक्ष रामू तिवारी, शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष संगीता अमृतकर, राजेश अडूर के साथ पूर्व पार्षद, चंद्रपूर शहर, जिला कांग्रेस कमेटी, महिला कांग्रेस, युवक काँग्रेस, एनएसयूआई, सेवादल, अनुसूचित जाति विभाग, ओबीसी विभाग, अल्पसंख्यांक सेल के साथ सभी विभाग के पदाधिकारी कार्यकर्ता शामिल थे. 

    वरोरा में विधायक धानोरकर की अगुवाई में आंदोलन

    वरोरा में क्षेत्रीय विधायक प्रतिभा धानोरकर के नेतृत्व में कांग्रेस पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने आंदोलन कर सरकार का विरोध प्रदर्शन किया. आंदोलन पश्चात वरोरा पुलिस ने कांग्रेसियों को हिरासत में ले लिया. आंदोलन में तालुका काँग्रेस अध्यक्ष मिलिंद भोयर, शहर काँग्रेस अध्यक्ष विलास टिपले, विशाल बदखल, छोटू शेख, प्रदीप बुराण, सन्नी गुप्ता, मनोहर स्वामी, सलीम पटेल, राहुल देवडे, प्रमोद काले, विजय पुरी, सुभाष दांदले, राहील पटेल, प्रफुल असूटकर, अनिल झोटिंग, गणेश काले, पुरुषोत्तम पावडे, राजेंद्र बन्सोड, प्रदीप घागी, तन्वीर शेख के साथ बडी संख्या में कांग्रेसियों का समावेश है.

    बल्लारपुर नप चौक पर किया आंदोलन

    बल्लारपुर के नगर पालिका चौक पर कांग्रेस पदाधिकारियों ने केंद्र सरकार का तीव्र निषेध प्रदर्शन कर आंदोलन कर जीवनावश्यक वस्तुओं से जीएसटी हटाये, अग्नीवीर योजना बंद करने के साथ सरकार की अन्य नीतियों का विरोध प्रदर्शन किया. आंदोलन में एमपीसीसी सदस्य घनश्याम मूलचंदानी, शहर अध्यक्ष अब्दुल करीम, महिला तहसील अध्यक्ष अफसाना सय्यद, महिला शहर अध्यक्ष अधि. मेघा भाले, ताहेर अली, भास्कर माकोडे, नरसिंह रेब्बावार, आनंद विरय्या, राजेश नक्कावार, गोंडपिपरी महिला तालुका अध्यक्षा रेखा रामटेके, छाया मडावी, रजीदा बानो, शोभा महंतो, मीना बहुरीया, अनिल खरतड, मुकदर सय्यद, राजु बहुरीया, विनोद आत्राम, रवी मातंगी, पवन मेश्राम, खुशल कोरडे, आकाशकांत दुर्गे, मेहमूद पठान, प्राणेश अमराज, दौलत बूंदेल, कासिम शेख,  सतीश करमनकर, मो फारुक, हरीष पवार, सचिन तोटावार, समीर खान, कैलाश धानोरकर, अखिल गेडाम, वासुदेव येरगुडे, गोविंदा उपरे, अफजल, विलास राजुरकर, सुरेश चहारे, नरेश गुंडलापेल्ली,  साजीद आदि उपस्थित थे.

    राजुरा में विधायक धोटे ने किया नेतृत्व

    राजुरा में विधायक सुभाष धोटे के नेतृत्व में कांग्रेस ने जोरदार धरना आंदोलन कर सरकार के खिलाफ आंदोलन किया. तहसील कार्यालय के सामने कांग्रेस ने एक दिवसीय धरना और जेलभरो आंदोलन किया. आंदोलन में राजुरा, कोरपना, जिवत और गोंडपिपरी तहसील के कांग्रसियों ने जेल भरो आंदोलन किया. आंदोलन में कांग्रेस के विधानसभा समन्वयक पूर्व नगराध्यक्ष अरुण धोटे, तालुकाध्यक्ष रंजन लांडे, महिला तालुकाध्यक्ष कविता उपरे, ओबीसी जिलाध्यक्ष नंदकिशोर वाढई, दिनकर कर्णेवार, साईनाथ बतकमवार, मंगेश गुरनुले, पूर्व नगराध्यक्ष स्वामी येरोलवार, अशोक देशपांडे, कुंदा जेनेकर, मुमताज जावेद अब्दुल, निर्मला कुडमेथे, तुकाराम मानुसमारे, संतोष गटलेवर, एजाज अहमद, इर्शाद शेख, अशोक राव, शंकर गोनेलवार, नाना आदे, हरिचंद्र जुनघरे, सुधाकर उईके, अजय रेड्डी, भाग्यश्री आत्राम, श्यामराव कोटनाके, जंगू येडमे, शंकर बोंकुर, अब्दुल जमीर आदि शामिल थे. 

    काले फीते लगाकर किया केंद्र व राज्य सरकार का निषेध

    घुग्घुस में  में कांग्रेस ने हाल की बरसात से हुए किसानों के फसलों का के नुकसान का प्रति हेक्टेयर 75,000 रुपए मुआवजा देने की प्रमुख मांग की है. गांधी चौक में कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रकाश देवतले, तालुकाध्यक्ष श्यामकांत थेरे, काँग्रेस अध्यक्ष राजूरेड्डी, किसान जिलाध्यक्ष रोशन पचारे, अनुसूचित जाति विभाग पूर्व जिलाध्यक्ष पवन आगदारी, शोभा  ठाकरे, महिला शहर अध्यक्ष विजया बंडीवार के नेतृत्व में सुबह 11.30 बजे काले फीते बांधकर मोदी सरकार के खिलाफ निषेध आंदोलन किया.  इस अवसर पर वरिष्ठ नेता जयंता जोगी, श्यामराव बोबडे, युवा नेता सूरज कन्नूर, तिरुपति महाकाली, किशोर बोबडे, शेख शामिउद्दीन, अलीम शेख, उत्तम ठाकरे, लखन हिकरे, शेखर तंगडपल्ली, सिनु गुडला, मोसिम शेख, अनिरुद्ध आवले, जावेद कुरेशी, अजय उपाध्ये, रोशन दांतलवार, विशाल मादर, रोहित डाकुर, सुकुमार गुंडेटी, रफिक शेख, देव भंडारी, साहिल सैय्यद, शहजाद शेख, आरिफ शेख, विशाल नागपुरे, सुनील पाटील, दीपक पेदोर, राकेश डाकूर, शंकर ठाकरे, अंकेश मडावी, बालकिशन कुलसंगे, विशाल नागपुरे, अंकुश सपाटे, ताजू शेख, कपिल गोगला, अजय त्रिवेणी, आमिना बेगम, दुर्गा पाटील, पद्मा त्रिवेणी, संध्या मंडल, पुष्पा नक्षिनें, सरिता गौरकार, मंगला बुरांडे आदि उपस्थित थे.

     महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का हल्लाबोल 

    सिंदेवाही. केंद्र की भाजपा सरकार की गलत तानाशाही नीति के कारण महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. हर वस्तु पर जीएसटी लगाकर लोगों का आर्थिक शोषण, बढ़ती बेरोजगारी, पेट्रोल, डीजल, गैस, आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी से आम जनता का जीना मुश्किल हो रहा है. केंद्र सरकार की इसी तानाशाही का निषेध करने हेतु सिंदेवाही तहसील कांग्रेस की ओर से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के तहसील अध्यक्ष रमाकांत लोधे, नगर पंचायत सिंदेवाही लोनवाही अध्यक्ष स्वप्निल कावले, तहसील महिला कांग्रेस अध्यक्ष सिमा सहारे के नेतृत्व में सिंदेवाही तहसील कांग्रेस की ओर से शुक्रवार को सिंदेवाही शहर के शिवाजी चौक पर धरना आंदोलन कर केंद्र सरकार का निषेध किया गया. 

    उक्त विरोध आंदोलन महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले की सूचना पर विधायक विजय वडेट्टीवार के आदेश से संगठनात्मक चुनाव निरिक्षक प्रभारी चंद्रशेखर चन्ने, महाराष्ट्र राज्य जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव हरिदास बारेकर, तहसील अध्यक्ष रमाकांत लोधे के मार्गदर्शन में किया गया. 

    आंदोलन में शहर अध्यक्ष सुनील उट्टलवार, सीमा सहारे, स्वप्निल कावले, निर्माण एव योजना अध्यक्ष भास्कर नन्नावार, जलापूर्ति अध्यक्ष दिलीप रामटेके, श्वेता संजय मोहुरले, मयूर सुचक, यूनुस शेख, आशा गंडाते, भूपेश लाखे, जानिक वाघमारे, मोरेश्वर ज्ञानवाडकर, अशोक सहारे, प्रवीण मोगरे, राहुल पोरेड्डीवार, प्रीति सागरे, शंकपाल, निमंत्रिता कोकोडे, नंदा नरसाले आदि गणमान्य सहयोगी उपस्थित थे.