शराब की तरह पेट्रोल व डिजल का टैक्स कम करे: निंबालकर

    • महंगाई के खिलाफ भाजयुमों का एल्गार
    • महाविकास आघाडी सरकार के किया निषेध 

    चंद्रपुर. राज्य शासन ने शराब लगे टैक्स को कम किया परंतु पेट्रोल डिजल पर लगे टैक्स को कम नही किया जा रहा यह जनता पर अन्याय है. पेट्रोल व डिजल का टैक्य 50% पे कम करने की मांग भारतीय जनता युवा मोर्चा ने बुधवारी को गांधी चौक में किए गए एल्गार आंदेालन में भाजयुमो जिलाध्यक्ष विशाल निंबालकर ने की है. 

    विधायक सुधीर मुनगंटीवार के मार्गदर्शन में भाजयुमो जिलाध्यक्ष(शहर)विशाल निंबालकर के नेतृत्व में यह आंदोलन किया गया. आंदोलन में महामंत्री प्रज्वलंत कडू, सुनील डोंगरे, प्रमोद क्षीरसागर, मंडल अध्यक्ष संजय पटले, हिमांशू गादेवार, गणेश रामगुंडमवार, गजेंद्र भोयर व अमित बोरकर समेत संजय पटले, हिमांशू गादेवार, गजेंद्र भोयर, कुणाल गुंडावार, पप्पू बोपचे , स्नेहित लांजेवार, आकाश म्हस्के, राहुल पाल, रुपेश चहारे, राजेश यादव, प्रवीण उरकुडे, आकाश ठुसे , प्रणय डंभारे, मनीष पिपरे,रोशन माणूसमारे, विकी मेश्राम, किशोर भोपेये आदि उपस्थित थे. 

    आंदोलन के दौरान निंबालकर ने कहा, शराब पर 50 प्रश टैक्स कम फिर राज्य सरकार पेट्रोल व  डिजल पर टैक्स क्यो कम नही कर रही है? यह शराबीयों की सरकार है. केंद्र सरकार ने जो कर दिखाया वह राज्य सरकार ने करके दिखाना चाहीए. नागरीकों पर अन्याय करनेवाली विश्वासघात सरकार का धिक्कार सभी नागरीकों ने करना चाहीए ऐसा आह्वान किया. 

    केंद्र सरकार का टैक्स अब केवल 19 रुपए है परंतु राज्य सरकार का टैक्स 29 रुपए होने से इंधन मूल्यवृध्दी किसके कारण? इसका विचार अब जनता ने करना चाहीए. महाविकास आघाडी सरकार का झुठापण सामने आया है. एक भी रुपया राज्य सरकार ने कम नही किया. इसलिए सरकार का निषेध करने के लिए युवक युवतींओं ने एकत्रित आकर इस ओर ध्यान आकर्षित किया. इस समय जिलाधिश को मांगो का ज्ञापन सौपा गया. 

    नागभीड में तहसील कार्यालय समक्ष निदर्शन 

    आम जनता को महंगाई से राहत दिलाने हेतु केंद्र सरकार ने दो बार पेट्रोल व डिजल पर लगाए टैक्स को कम कर दिया. परंतु महाविकास आघाडी सरकार स्वयं टैक्स कम करने के बजाय केंद्र सरकार पर उंगली उठाने का काम कर रही है. महाविकास आघाडी सरकार के इस प्रवृत्ती का निषेध करते हुवे बुधवार को संपुर्ण जिले समेत भाजयुमों नागभीड तहसील की ओर से विधायक भांगडीयां के मार्गदर्शन में पेट्रोल व डिजल पर लगा टैक्स कम करने के लिए राज्य सरकार के खिलाफ तहसील कार्यालय के सामने निदर्शन किया. इस समय तहसीलदार को ज्ञापन सौपा गया. पेट्रोल, डिजल की दाम कम नही होने पर इससे अधिक तिव्र आंदोलन करने का इशारा भाजयुमो तहसील अध्यक्ष देवानंद बावनकर ने दिया है. 

    आंदोलन सफलतार्थ देवानंद बावनकर, सचिन आकुलवार, शिरीष वानखेडे, सुनील शिवणकर, अरविंद भुते, आनंद कोरे, हेमंत नन्नावरे, नितेश कुर्झेकर, प्रमोद डबले, अमोल देशमुख, रोशन रामटेके, रोशन वाघमारे, हेमराज ठाकरे, सचिन चीलबुले, राजू पिसे, राकेश बावणे, राकेश मारबते, टेनिग्रेग मसराम, योगेश कामडी, हर्षद येरणे, सौरभ सूर्यवंशी, विनोद मेश्राम, प्रमोद चौधरी, सचिन बुरबांधे, मुकेश धनिवार व अन्य कार्यकर्ते आदि उपस्थित थे. 

    भद्रावती में किया निषेध 

    पेट्रोल डिझेल का टैक्स केंद्र सरकार ने कम कीया परंतु महाविकास आघाडी सरकार ने अबतक टैक्स कम नही करने से सरकार के खिलाफ निषेध आंदोलन कर तहसीलदार अनिकेत सोनवणे को ज्ञापन दिया गया. 

    इस समय भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष अमित गुंडावार, भारतीय जनता युवा मोर्चा जिला उपाध्यक्ष इम्रान शेख, संतोष कामत्वार, तोसिफ शेख, तुळशीराम श्रीरामे व कई कार्यकर्ता उपस्थित थे. 

    वरोरा में तहसीलदार को सौपा ज्ञापन 

    राज्य सरकार द्वारा इंधन पर लिया जा रहा टैक्स में कम कर जनता का नुकसान कम करने की मांग को लेकर वरोरा के तहसीलदार को ज्ञापन सौपा गया. महाराष्ट्र की तिघाडी सरकार ने जनता की लुट को रोकने के लिए राज्य सरकार के खिलाफ निषेध किया गया. युवा मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष विक्रांत पाटील, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भाजयुमो प्रदेश सचिव करण संजय देवतले के नेतृत्व में शहर अध्यक्ष महेश श्रीरंग, निलेश देवतळे, अभिजीत गैनेवर, दिपक चौहान, दादू खांगर, यश निनावेकर, आदर्श सोयाम व सभी भाजपा तथा युवा मोर्चा तहसील पदाधिकारी कार्यकर्ता के हाथों तहसीलदार के माध्यम से राज्य सरकार को ज्ञापन भेजा गया.