वेकोली माजरी क्षेत्र के नागलोन खुली खदान का टीला ढहने का मामला, तहसीलदार के आदेश के बाद सुरू हुआ नदी से मिट्टी हटाने काम

    चंद्रपुर. वेकोली माजरी क्षेत्र की मुश्कीले थमने का नाम नही ले रही. वेकोली माजरी क्षेत्र में नागलोन खुली कोयला खदान से मिट्टी का विशाल 400 मीटर वाला टीला दि.23 मार्च को ढह गया था. जिससे शिरना नदी तथा किसानों के खेत तक  गिरा मिट्टी का ढेर आ गिरा था. सभी विभागों ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए वेकोली को आडेहाथो में लिया. नदी का प्रवाह पूरी तरह बंद है और नदी में 15-20 फिट का चट्टान बन गया है. इससे शिरना नदी और कोराडी नाला का पानी बहना  बंद हो गया.

    प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड चंद्रपुर, सिंचाई परियोजना बोर्ड चंद्रपुर, डीजीएमएस नागपुर और तहसीलदार ने वेकोली माजरी प्रशासन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था. फिर पलसगाव के किसान और गाव वालो ने वेकोली का काम रोकते हुए समस्या का निराकरण करने की मांग की थी. तहसीलदार ने मध्यस्थि कर अधिकारी और गाव वालो के बीच विवाद खत्म कर तहसीलदार ने तत्काल नदी साफ करने का आदेश दिया.

    आज से वेकोली ने पोकलैंड मशीन नदी में उतारकर नदी सफाई करना शुरु किया है. वेकोली नदी की सफाई के बाद 400 फिट ऊँचे मिट्टी के टीले को चारों तरफ से 15 फिट ऊँची संरक्षण दीवार बनाएंगी. 16 दिन बाद आज से नदी की सफाई का काम सुरु होने पर वेकोली अधिकारी और गाँव वासियो ने राहत की सांस ली है.