hailstorm in chandrapur

Loading

शेगांव/वरोरा. बंगाल के उपसागर में कम दबाव निर्माण होने से महाराष्ट्र राज्य में बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जताई है. इसी तर्ज पर शनिवार की रात चंद्रपुर जिले के भद्रावती, वरोरा व शेगांव परिसर में जोरदार बेमौसम बारिश, तेज हवाएं चलीं और ओलावृष्टि हुई. इस बेमौसम बारिश से क्षेत्र के किसानों की फसलों का भारी नुकसान हुआ है. कपास, गेहूं, चना, अरहर, आम व सब्जियों का काफी नुकसान हुआ है.

भद्रावती में शनिवार की शाम 7:30 बजे से भद्रावती शहर में जोरदार बारिश हुई और आंधी तूफान बिजली की कड़कडाहट के साथ बारिश जोरदार हुई. आधा घंटा भद्रावती शहर की बत्ती गुल हो गई थी. आंधी तूफान और बिजली की चमक के साथ शहर में ओले गिरे और बारिश जोरदार हुई. तूफान भी बहुत जोरदार थी. जिससे शहर के बोर्ड, फ्लैक्स सड़क पर गिर गए. बिजली की कड़कड़ाहट भी जोरदार तरीके से हुई. करीब पौने घंटे तक बदले मौसम के मिजाज ने अपना रौद्र रूप दिखाया. शनिवार की रात व रविवार की शाम शेगांव परिसर में हुई तेज बारिश व ओलावृष्टि के चलते किसानों रबी फसलों का नुकसान पहुंचा है.

ज्ञात हो कि मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार व रविवार को क्षेत्र में बेमौसम बारिश का पूर्वानुमान जारी किया था. रविवार को भी विदर्भ के अधिकांश हिस्सों के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किया था. जिसमें कहा गया है कि कुछ क्षेत्र में कई स्थानों पर आंधी और बारिश की संभावना है.

आम का उत्पादन होगा प्रभावित

पहले ही किसानों के खरीफ मौसम के सोयाबीन, धान फसलों पर येलो मोझैक, करपा रोग ने नुकसान किया. खरीफ संकट से किसान अभी उबरा भी नहीं कि रबी सीजन की ज्वारी, जवस, चना, गेहूं, लाखोरी आदि फसलों को बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने धो डाला. ओलावृष्टि व जोरदार बारिश से किसानों की चिंता पुन: बढ़ गई है. कुछ समय पहले तक आम के वृक्ष बौर से पूरी तरह ढंके थे. लेकिन दो दिन तेज हवा व बारिश के चलते संपूर्ण बौरर झड़ गए हैं. जिससे आम उत्पादन इस बार भी प्रभावित होगा. रविवार की शाम 5.30 बजे शेगांव क्षेत्र में हुई बारिश के चलते उमरी गांव के गेडाम के घर की दीवार ढह गई. हालांकि, इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.