पुरानी रंजिश में युवक की निर्ममता से हत्या, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

    चंद्रपुर. शहर के अष्टभुजा वार्ड परिसर में मंगलवार 24 मई की रात 10.30 से 11 बजे के बीच तीन युवकों ने मिलकर एक युवक की तीक्ष्ण हथियारों से वार कर निर्ममता से हत्या कर दी. इस घटना में शामिल मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार करने में दूसरे दिन आज बुधवार को सफलता पायी है. इस हत्याकांड ने पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल दी थी.

    चंद्रपुर शहर से बल्लारपुर की ओर जानेवाले बाईपास रोड पर स्थित अष्टभुजा वार्ड रहनेवाले 20 वर्षीय धर्मवीर उर्फ डबल्या अशोक यादव की बडी ही निर्ममता से हत्या किए जाने की घटना ने पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल दी थी. मंगलवार की रात 10.30 बजे के दौरान तीन युवकों ने मिलकर सरेआम धर्मवीर पर तीक्ष्ण हथियारों से हमला किया और वहां से रफूचक्कर हो गए. धर्मवीर हमले में रक्तरंजित होकर दम तोड चुका था. इस घटना की जानकारी मिलते ही रामनगर पुलिस घटना स्थल पर पहुंची.

    शव का पंचनामा बनाकर उसे वाहन डालकर पोस्टमार्टम के लिए चंद्रपुर जिला सामान्य अस्पताल रवाना किया. घटना की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे ने स्थानीय अपराध अन्वेषण विभाग (एलसीबी )के पुलिस निरीक्षक बालासाहब खाडे को यह मामला सौपकर इत्या का सुराग लगाने की जिम्मेदारी सौपी.

    अष्टभुजा वार्ड स्थित मृतक धर्मवीर के जान पहचानवाले लोगों से मिलकर पुलिस ने घटना की हकीकत जानने का प्रयास किया. पुलिस को पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि धर्मवीर की इसी वार्ड में रहनेवाले अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति चेतन सोनवने के साथ रंजिश होने के कारण चेतन ने ही अपने दो साथियों को लेकर रात में धर्मवीर के साथ विवाद किया और उसकी धारदार हथियार से हत्या कर दी. जिसके चलते धर्मवीर की मौके पर ही मौत हो गई. 

    इस मामले में मुख्य सुत्रधार आरोपी चेतन उर्फ सचिन सोनवने की पुलिस खोज में जुट गई. पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि चेतन मोरवा विमानतल परिसर में जंगल में छिपा हुआ है. इस गुप्त सूचना के आधार पर एलसीबी के पुलिस निरीक्षक बालासाहब खाडे ने अपनी टीम के साथ परिसर में आरोपी की तलाश शुरू कर दी. परिसर में आरोपी के नजर आते ही पुलिस ने पूरी सतर्कता बरतते हुए उसे धरदबोचा. आरोपी चेतन इमले के समय घायल हो चुका था. उसकी वैद्यकीय जांच कर रामनगर पुलिस स्टेशन को उसे सौप दिया गया.

    उक्त कार्यवाही पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे, अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के मार्गदर्शन में एलसीबी के पुलिस निरीक्षक बालासाहब खाडे, स्थानीय अपराध शाखा पथक के पुलिस हवा संजय आतकुलवार, नापुका. दीपक डोंगरे, पु.का. प्राजल झिलपे, गणेश भोयर, चानापुका चंद्रशेखर आसुटकर ने की. 

    सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार मृतक और आरोपी दोनों ही अपराधिक प्रवृत्ति के होने से दोनों के बीच काफी दिनों से पुरानी रंजिश चली आ रही थी. मृतक धमवीर पर भी दो हत्याओं का आरोप होने की चर्चा व्याप्त है. शहर का अष्टभुजा परिसर आपसी रंजिश में हत्याओं के लिए इससे पूर्व भी कई बार चर्चाओं में आ चुका है.