मैत्री प्रशिक्षण से रोजगार का अवसर, पशुसंवर्धन विभाग द्वारा राष्ट्रीय गोकुल मिशन

    गड़चिरोली. राज्य के ग्रामीण क्षेत्र के सुशिक्षीत बेरोजगारों को राष्ट्रीय गोकुल मिशन अंतर्गत मैत्री (एमएआयटीआरआय) के रूप में प्रशिक्षण देना है. प्रशिक्षीत व्यक्ती का कृत्रिम रेतन व अनुषंगीक कार्य करने के लिए नियुक्ती करनी है. जिससे राज्य के गाय, भैस में कृत्रिम रेतन की व्याप्ती बढ़ेगी. ग्रामीण क्षेत्र के सुशिक्षीत बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध होगा. तथा दुग्ध उत्पादन में वृद्धी होकर किसानों का उत्पन्न दो गुना होने में मदद होगी. 

    उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम यह 3 माह  के कालावधि का है. इसमें 1 माह क्लासरुम ट्रेनिंग व 2 माह प्रॅक्टीकल ट्रेनिंग का समावेश रहेगा. क्लासरुम ट्रेनिंग पशुवैद्यकीय महाविद्यालय में आयोजित किया जाएगा. वहां प्रशिक्षणार्थियों को छात्रावास में रहने की तथा भोजन की व्यवस्था की जाएगी.

    प्रॅक्टीकल ट्रेनिंग जिले का पशुवैद्यकिय अस्पताल श्रेणी-1 अथवा तहसील लघू पशुवैद्यकिय सभी चिकित्सालय अथवा जिला पशुवैद्यकिय सभी चिकित्सालय में ली जाएगी. उक्त कालावधि में कम से कम 3 लिखीत व 1 प्रात्याक्षिक परीक्षा ली जाएगी. 3 माह का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण करनेवाले प्रशिक्षणार्थि को प्रमाणपत्र दिया जाएगा.

    ऐसे करे आवेदन 

    उक्त प्रशिक्षण लेने के लिए इच्छुक उम्मीदवार यह किमान 12 वी उत्तीर्ण होना चाहिए. उसकी उम्र 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए. आवेदन का नमुना पशुधन विकास अधिकारी (विस्तार), पंचायत समिति के कार्यालय में कार्यालयीन समय पर उपलब्ध होगा. गड़चिरोली जिले के लिए सर्वसाधारण प्रवर्ग से 2, अनुसूचीत जमाती प्रवर्ग से 2 इस तरह कुल 4 उम्मीदवारों का  उक्त प्रशिक्षण के लिए चयन किया जाएगा.

    इच्छुक उम्मीदवार नजीक पशुवैद्यकिय अस्पताल के माध्यम से पशुधन विकास अधिकारी (विस्तार), पंचायत समिति की ओर आवेदन पेश करे, ऐसा आह्वान पशुसंवर्धन जिला उपआयुक्त डा. विलास गाडगे, जिप के जिला पशुसंवर्धन अधिकारी डा. सुरेश कुभंरे ने किया है.