हाथियों द्वारा किए गए नुकसान का शिवसैनिकों ने किया निरीक्षण, नुकसानग्रतों को तत्काल मदद देने की मांग

    आरमोरी. तहसील के जंगली हाथियों के झुंड ने उत्पात मचाया है. हाल ही में पलसगांव व पाथरगोटा परिसर में हाथियों ने बडी मात्रा में साहियों की तोडफोड करते हुए कृषि उपज का भी नुकसान किया है. इसकी सुध लेते हुए शिवसैनिकों ने वनविभाग के अधिकारियों को साथ्ज्ञ लेकर प्रत्यक्ष नुकसान का निरीक्षण किया. नुकसानग्रस्तों को वनविभाग तत्काल वित्तीय मदद दे, ऐसी मांग उन्होने इस समय की. 

    धानोरा तहसील से सिधे आरमोरी, देसाईगंज तहसील की ओर अपना कांरवा मोडनेवाले जंगली हाथियों के झुंड ने 4 दिसंबर को पलसगांव, पाथरगोटा परिसर में रात के दौरान उत्पात मचाया. फसलों के साथ ही साहित्यों की व्यापक मात्रा में नुकसान किया. इसकी जानकारी मिलते ही शिवसैनिकों ने वनविभाग के जांच अधिकारी एस. जी. शेख को साथ लेकर घटनास्थल का मुआयना किया. 

    प्रत्यक्ष निरीक्षण के दौरान पाथरगोटा के पुरुषोत्तम मैंद के खेती उपज का व्यापक नुकसान होने का दिखाई दिया. वहीं रेखा दोनाडकर के निलगिरी रोपाइ्र का भी नुकसान होने का निदर्शन में आया. फिलहाल इन जंगली हाथियों ने आरमोरी समेत देसाईगंज तहसील के किसानों को त्रस्त कर छोडा है. कृषिउपज का हाथियों ने व्यापक नुकसान किया है.

    जिससे नुकसानग्रस्तों को तत्काल मुआवजा देकर नुकसान के पंचमाने करने की मांग शिवसैनिकों ने वनरक्षक शेख की ओर की. इस समय नप के निर्माण सभापति सागर मने, भूषण सातव, लहानु पिलारे, राजू ढोरे, अमरदीप बनकर, सोपान गेडाम, गोपाल दोनाडकर, भाष्कर मातेरे, निकेश बुराडे, शैलेश ढोरे, अनिल बगमारे, सोनू राऊत, गणेश दोनाडकर, वैभव राऊत आदि उपस्थित थे.