In Maharashtra, 65 people died in just 9 months in wild animal attacks, 23 tigers died in 6 months, the state government said
File Photo

    गड़चिरोली. पिछले कुछ माह से गड़चिरोली और देसाईगंज वनविभाग में नरभक्षी बाघ की दहशत कायम है. इसी बीच रविवार को सुबह जंगल में भोजन पकाने हेतु जंगल में लकड़िया लाने के लिये गये युवक पर बाघ ने हमला किया. जिसमें युवक की मृत्यु हो गयी. यह घटना गड़चिरोली तहसील के तथा वड़सा वनविभाग अंतर्गत अनेवाले पोर्ला गांव के जंगल में घटी. मृतक युवक का नाम किशोर तुलशीराम मामीड़वार (30) है. इस घटना से परिसर में दहशत का वातावरण निर्माण हो गया है. वहीं वनविभाग तत्काल नरभक्षी बाघ का बंदोबस्त करें, ऐसी मांग परिसर के नागरिकों ने की है.

    दो माह में 4 लोगों ने गवाई जान 

    वड़सा वनविभाग अंतर्गत आनेवाले आरमोरी व पोर्ला वनपरिक्षेत्र में नरभक्षी बाघ की दहशत कायम है. पिछले दो माह की कालावधि में संबंधित वनविभाग ने चार लोगों की जाने ली है. गत माह में दो दिनों में दो किसानों की बाघ ने जान ली थी. जिसमें एक महिला किसान का समावेश था. इसी बीच हाल ही में आरमोरी तहसील के इंजेवारी गांव परिसर में लकडिय़ा चुनने जंगल में गये व्यक्ति पर भी बाघ ने हमला किया. जिसमें उसकी मृत्यु हो गयी थी. और अब रविवार को सुबह पोर्ला जंगल में लकडिय़ा चुनने गये मामीड़वार नामक युवक पर भी बाघ ने हमला कर उसकी जान ली है.

    वनविभाग तत्काल करें बाघ का बंदोबस्त 

    आरमोरी और पोर्ला वनपरिक्षेत्र में बाघ की दहशत काफी बढ़ गयी है. हर सप्ताह में बाघ किसी न किसी को अपना निवाला बना रहा है. ऐसे में खेती कार्य शुरू होने के कारण किसान व मजदूरों को बाघ के दहशत के बीच खेतों में जाना पड़ रहा है. इस बीच रविवार को पोर्ला जंगल परिसर में बाघ एक युवक को अपना निवाला बनाने से परिसर के नागरिक पुरी तरह भयभित हो गये है. जिससे वनविभाग तत्काल उपाययोजना कर नरभक्षी बाघ का बंदोबस्त करें, ऐसी मांग इस क्षेत्र के नागरिकों ने की है.