These home remedies can do a great job in dealing with viral fever, try it
Representational Pic

    जलगांव : जिले में बदलते मौसम (Changing Weather) के कारण हवा में नमी बढ़ गई है। ऐसे में देखा जा रहा है कि वायरल फीवर (Viral Fever) के मरीजों (Patients) की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसके अलावा, मुंबई सहित उपनगरों में खसरे का एक मजबूत प्रकोप है। इस पृष्ठभूमि में जिला स्वास्थ्य प्रशासन भी अलर्ट मोड पर है। 

    जिले में पिछले तीन-चार दिनों से तापमान में गिरावट आ रही है। शुक्रवार सुबह न्यूनतम तापमान 14 डिग्री पर पहुंच गया है। सुबह ओलावृष्टि तेज हो गई है।  शहर और जिले में पिछले एक सप्ताह से मौसम में आए बदलाव से वायरल के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। बच्चों, युवाओं, वरिष्ठ नागरिकों में सर्दी-जुकाम के साथ खांसी-जुकाम के लक्षण देखे जा रहे हैं।     

    शरीर के लिए पर्यावरण में होने वाले परिवर्तनों के अनुकूल होना संभव नहीं है। कम रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले इस बदलते परिवेश का तनाव तुरंत महसूस कर रहे हैं। साथ ही, मुंबई और उपनगरों में खसरे के रोगियों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। इस पृष्ठभूमि में राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्देश दिए गए हैं। 

    जिला स्वास्थ्य प्रशासन के पास तालुका स्तर पर खसरे के टीके का आवश्यक स्टॉक उपलब्ध है। तालुक के साथ-साथ ग्रामीण अस्पताल प्रशासन स्तर पर भी खसरे से संबंधित लक्षण हैं। ऐसे संदिग्ध मरीजों के ब्लड सैंपल लेकर जिला स्तर पर भेजने के निर्देश दिए हैं। उन सैंपलों को जांच के लिए मुंबई की एक प्रयोगशाला में भेजने की व्यवस्था को लेकर प्रशासन सतर्क है। बच्चों में वायरल संक्रमण या खसरे के लक्षण पाए जाने पर नागरिकों को समय पर डॉक्टरी सलाह भी लेनी चाहिए। – डॉ. समाधान वाघ, सहायक जिला स्वास्थ्य अधिकारी, जिला परीषद, जलगांव