corona

    नयी दिल्ली/मुंबई. जहाँ एक तरफ महाराष्ट्र में ओमीक्रोन (Omicron Maharashtra ) ने अब बेतहाशा लोंगो में टेंशन बढ़ा दी है। वहीं अब इसके चलते राज्य की उद्धव सरकार (Uddhav Govt) भी पूरी तरह से एक्शन मोड़ में है। इसी क्रम में अब मुंबई (Mumbai) में कोरोना (Coronavirus Pandemic) के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के मामले सामने आने के बाद सरकार ने अब 11-12 दिसंबर के लिए धारा 144 भी लागू की है। इसके साथ ही रैलियों, जुलुस और मोर्चाओं पर भी रोक लगाई गई है। 

    महाराष्ट्र में  धारा 188 लागू 

    हालंकि उद्धव सरकार के इस फैसले का पालन न करने वालों पर अब IPC की धारा 188 सहित अन्य कानूनी नियमों के तहत एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि राज्य में ओमीक्रोन के अब तक कुल 17 मामले सामने आए हैं। वहीं बीते शुक्रवार को ओमीक्रोन के सात नए मामले सामने आए थे। जिसमें से 3 मामले तो मुंबई और 4 केस पिंपरी चिंचवड से थे। वहीं मुंबई में ओमीक्रोन की चपेट में आने वाले लोगों की उम्र 48, 25 और 37 साल है।

    गौरतलब है कि मुंबई पुलिस उपायुक्त (संचालन) द्वारा जारी आदेश आज यानी शनिवार और रविवार को 48 घंटे तक प्रभावी रहेगा।  यह फैसलाकरना  के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट से मानव जीवन के लिए खतरे को रोकने और अमरावती, मालेगांव और नांदेड़ में हुई हिंसा के मद्देनजर कानून व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से लिया गया है। 

     लॉकडाउन पर क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे 

    हालाँकि बीते 8-9 दिसम्बर को महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh tope On Lockdown) ने यह साफ कर दिया था कि, “कोरोना के इन नए वेरिएंट की गंभीरता कम है और लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।  साथ ही अब अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग की जा रही है।  ओमिक्रॉन संस्करण अब तक 54 देशों में फैला हुआ है।  इसकी Transmissibility क्षमता तो अधिक है, लेकिन गंभीरता या विषाणु कम है।  इसलिए हमें घबराने की जरूरत नहीं है। “

    लेकिन वहीं लॉकडाउन के बारे में पूछे गए प्रश्न में उन्होंने कहा था कि, “हम अभी तक राज्य में किसी भी लॉकडाउन (Maharashtra Lockdown) के बारे में नहीं सोच रहे हैं।  कोरोना पर गठित राज्य टास्क फोर्स ने अब तक ऐसा कोई भी निर्देश नहीं दिया है।  हम स्थिति पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं  और केंद्र, राज्य टास्क फोर्स और मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन के बाद ही किसी भी प्रतिबंध का ऐलान करेंगे। “

    कैसे होगा ओमीक्रोन से मुकाबला 

    वहीं नए वेरिएंट के प्रसार का मुकाबला करने के लिए महाराष्ट्र की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि , “फिलहाल हम 3T सिद्धांत के साथ काम कर रहे हैं, यानी – ट्रैकिंग, ट्रेसिंग और परीक्षण।  जीनोम अनुक्रम के लिए हमारे पास वर्तमान में तीन प्रयोगशालाएं हैं।  हम नागपुर और औरंगाबाद में भी इस सुविधा का अब विस्तार करेंगे। “

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीते शुक्रवार को साढ़े तीन साल की बच्ची सहित ओमिक्रॉन के सात नए मामले(Omicron in maharashtra) सामने आए हैं।  इसके साथ ही अब महाराष्ट्र (Maharashtra) में मरीजों की संख्या 17 हो गई है, जबकि देश में (Omicron in india) अब तक इस वेरिएंट के 32 मामले सामने आ चुके हैं।