corona
Representative Photo

    नागपुर. भले ही करोना का भय लोगों के मन से पूरी तरह गया नहीं लेकिन कामकाज के सिलसिले में लोगों का आना-जाना काफी बढ़ गया है. व्यापारिक गतिविधियां बढ़ने का लाभ अब एयरपोर्ट पर बढ़ते यात्री के रूप में देखने को मिल रहा है. हवाई यात्रा करना लोग काफी पसंद कर रहे हैं. चाहे पर्यटन की बात हो या फिर बिजनेस की. हवाई सफर अब पहली पसंद बनता जा रहा है. नागपुर की बात करें तो यहां से औसत 28 फ्लाइट्स रोज आती हैं और इतनी ही टेक ऑफ करती हैं.

    नवंबर तक केवल डोमेस्टिक (घरेलू) फ्लाइट ही संचालित हो रही थीं. इसके बाद भी नागपुर एयरपोर्ट से 1,15,141 लोगों ने देश के विभिन्न शहरों के लिए नवंबर में (1 से 30 नवंबर) के बीच यात्रा की. वहीं 1,04,866 लोगों का शहर में आगमन हुआ, जबकि अक्टूबर में उड़ान भरने वालों की संख्या 74,388 ही थी. आने वालों की संख्या 80,690 थी. सितंबर में यह संख्या 70,066 लोगों की थी. 65,171 यात्रियों का आगमन हुआ था. सितंबर और अक्टूबर में भी औसत 28 फ्लाइट्स की लैंडिंग और टेक ऑफ हो रहा था.

    कोरोना महामारी के पहले जहां नागपुर से 35 फ्लाइट्स उड़ान भरती थीं, कोरोना की दूसरी लहर के बाद विमानों की संख्या घटकर 15 पर आ गई थी. 25 अक्टूबर से फिर विमान सेवा बहाल होनी शुरू हुई. नागपुर से आज 8 शहरों दिल्ली, मुंबई, पुणे, बेंगलुरु, गोवा, हैदराबाद, इंदौर, कोलकाता के लिए फ्लाइट अपलब्ध हैं. 

    इस प्रकार बढ़ रही यात्रियों की संख्या

    महीना                यात्रियों का आगमन                जाने वाले यात्री

     सितंबर                     65,171                                  70,066

    अक्टूबर                     80,690                                 74,388 

    नवंबर                       1,04,866 1,15,141