Representative Pic
Representative Pic

    नागपुर. कोरोना महामारी की दूसरी लहर पूरी तरह नियंत्रण में होने के बाद अचानक नये वैरिएंट ओमिक्रॉन ने दस्तक दी है. फिलहाल सिटी में ओमिक्रॉन का खतरा तो नहीं है लेकिन डेल्टा प्लस वैरिएंट के मरीजों की संख्या गत कुछ दिनों से अचानक फन फैला रही है. एक ओर ओमिक्रॉन तो दूसरी ओर डेल्टा के मरीज बढ़ने से प्रशासन के माथे पर अब बल पड़ना शुरू हो गया है.

    सोमवार को मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी ने तैयारियों को लेकर आपात बैठक बुलाई जिसके बाद यदि कोरोना बाधितों की संख्या बढ़ी तो कन्टोनमेंट जोन तैयार होने की सख्त चेतावनी दी. बैठक में बताया गया कि फिलहाल शहर में कोरोना के 91 एक्टिव मरीज हैं जिन्हें इंस्टीट्यूशनल विलगीकरण केंद्रों में रखा गया है. अति. आयुक्त राम जोशी, मुख्य अभियंता प्रदीप खवले, उपायुक्त मिलिंद मेश्राम, डॉ. संजय चिलकर, डॉ. गोवर्धन नवखरे, डॉ. विजय जोशी उपस्थित थे. 

    ओमिक्रॉन : एयरपोर्ट पर जांच निश्चित करें

    मनपा आयुक्त ने कहा कि देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. मनपा ने ओमिक्रॉन से निपटने के लिए कड़े कदम उठाना शुरू कर दिया है. विदेश से किसी भी मार्ग से शहर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति की कोरोना जांच अनिवार्य की गई है. डॉ. बाबासाहब आम्बेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विदेश से आ रहे यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही जांच सुनिश्चित होनी चाहिए. फिलहाल एयर अरेबिया से हवाई जहाज आ रहे हैं जहां से कई यात्री कोरोना बाधित पाए गए हैं. जिन यात्रियों की कोरोना टेस्ट पॉजिटिव पाया गया, उन्हें विधायक निवास में निर्मित किए गए इंस्टीट्यूशनल विलगीकरण केंद्र में रखने की व्यवस्था की गई है. यदि यात्री स्वयं खर्च से होटल में रहना चाहे तो कुछ होटल में विलगीकरण की व्यवस्था की गई है. 

    बाक्स………

    एस.जीन रिपोर्ट फेल तो अस्पताल में भर्ती

    विदेश से आ रहे यात्रियों को कोरोना जांच के लिए आगे आने की अपील करते हुए मनपा आयुक्त ने कहा कि यदि यात्री स्वयं टेस्ट कराने से कतरा रहे हों तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. इसके अलावा जिन यात्रियों की एस.जीन रिपोर्ट फेल हो उन्हें ओमिक्रॉन संक्रमित मानकर अस्पताल में भर्ती होना जरूरी है. बैठक में कोरोना से जान गंवा चुके लोगों के परिजनों को वित्तीय सहायता के संदर्भ में जानकारी भी ली गई. सिटी के ऐसे 3,700 मामले जिला आपत्ति व्यवस्थापन प्राधिकरण को भेजे गए हैं जिनमें से 1,700 मामलों को मंजूर किया गया है. 

    बाक्स………..

    ओमिक्रॉन से 1 और बाधित 

    सोमवार को पुणे के एनआईवी सेंटर से आई 15 कोरोना बाधितों की रिपोर्ट में पुन: एक महिला ओमिक्रॉन से बाधित पाई गई है. इसके पूर्व ओमिक्रॉन के 2 बाधित मिले थे. किंतु उनकी स्थिति अब सामान्य है. तीसरी कोरोना बाधित महिला एक सप्ताह पूर्व एम्स में भर्ती कराई गई थी. इसके बाद मनपा ने इस तरह से विदेश यात्रा की पृष्ठभूमि वाले 15 लोगों को नमूने जांच के लिए भेजे थे जिनमें एक बाधित पाया गया है.