nmc

    नागपुर. नगरसेवकों अपने बीते कार्यकाल में अब तक प्रभाग में जो भी विकास कार्य व समाजसेवा के कार्य किये हैं उनका लेखाजोखा नागरिकों के समक्ष रखा है. आगामी मनपा चुनाव की तैयारी भी शुरू हो चुकी है और अपने किये गए कार्यों से नगरसेवक संतुष्ट हैं. वहीं अवसर मिलने पर आगे भी जनता की सेवा करने के इच्छुक हैं. नवभारत संवाद में उन्होंने अपने कार्यों का लेखाजोखा रखा.

    सर्वांगीण विकास था लक्ष्य : जाधव

    प्रभाग 11 से भाजपा के नगरसेवक व पूर्व स्टैंडिंग चेयरमैन संदीप जाधव ने बताया कि उन्होंने प्रभाग में मूलभूत सुविधाओं के विकास के साथ ही सर्वांगीण विकास का प्रयास किया. प्रभाग में 450 लेआउट ऐसे हैं जो एनआईटी के 1,900 लेआउट्स में आते हैं. प्रभाग का दौरा कर वहां के जंगल-झुड़पी वाले मैदानों की हालत देखी. फिर झिंगाबाई टाकली एरिया में ही 14 मैदान विकसित किए. 4 गार्डन का कार्य हाथ में लिया जिसमें से काटोले लाआउट गार्डन तैयार हो गया.

    शुभमकुंज का गार्डन का काम 75 लाख रुपयों की लागत से चल रहा है. 75 फीसदी कार्य हो गया है. इस गार्डन के लिए तो यहां के बच्चों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चिट्ठी लिखी थी. पीएमओ से कलेक्ट्रेट के जरिये इसकी जानकारी मिली और उद्यान का काम शुरू किया. सीमेंट  रोड, सीवर लाइन, नदी में सुरक्षा दीवार का निर्माण करवाया. फरस से झिंगाबाई टाकली तक 33 करोड़ रुपयों की लागत से सीमेंट  रोड का काम केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी की निधि से किया गया.

    झिंगाबाई टाकली व गोरेवाड़ा बस्तियों में 450 बिजली के पोल लगवाएं. डामरीकरण का कार्य किया. गोरेवाड़ा बस्ती जाने वाले रोड के चौड़ाईकरण का कार्य 52 लाख रुपये की निधि से करवाया. पीएचसी शुरू करवाया. राटी लेआउट में बच्चों के लिए खेल का मैदान तैयार कर रहे हैं. इसके अलावा ज्येष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य शिविर, मेधावी विद्यार्थियों का सत्कार जैसे आयोजन करते रहे. जाधव ने कहा कि डिजिटल लाइब्रेरी बनाने का लक्ष्य है और जनता ने आशीर्वाद दिया तो वह भी जरूर बनाएंगे. 

    नई बस्तियों में सारी सुविधाएं : इवनाते

    प्रभाग 12 से भाजपा नगरसेविका माया इवनाते ने कहा कि दाभा परिसर में तेजी से नई-नई बस्तियां, कॉलोनियां विकसित होती जा रही हैं. इन बस्तियों में रोड, गडरलाइन, पानी लाइन, बिजली के पोल जैसे मूलभूत विकास कार्य करने की जरूरत है. जिसे देखते हुए उनकी प्राथमिकता यही रही. प्रभाग में स्लम व एनआईटी के लेआउट्स हैं. रोड के डामरीकरण और सीमेंट ीकरण का काम करीब 8-9 करोड़ रुपये का किया गया है.

    पुराने गडर लाइन को बदलकर नयी लाइन डलवाने का कार्य हुआ. दाभा में विधायक सुधाकर देशमुख के फंड से 8 करोड़ रुपयों की लागत से सीमेंट  रोड का कार्य किया गया. मैदान, उद्यान, ग्रीन जिम के काफी कार्य किए. इवनाते ने बताया कि सुरेन्द्रगढ़ सबसे बड़ा स्लम है. यहां काफी कार्य किया है लेकिन काफी कुछ करने की अभी भी जरूरत है. उन्होंने बताया कि नागरिकों से हमेशा संपर्क में रहती हैं.

    उन्हें स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने में मदद करना, राशन कार्ड बनाने, निराधार कार्ड बनवाने के कार्य नियमित शुरू ही रहते हैं. 350 बिजली के पोल लगवाए, प्रेरणानगर में समाज भवन का निर्माण करवाया. करीब 2 करोड़ के रोड के कार्य अभी मंजूरित हैं. राष्ट्रीय जनजाति आयोग की अध्यक्ष रहते हुए समाज को वहां से भी लाभ दिलाने का काम किया. 3 वर्ष आदिवासी महोत्सव का आयोजन करवाया जो यहां पहली बार हुआ. 

    शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाया : नायक

    प्रभाग 19 की भाजपा नगरसेविका ने बताया कि उन्होंने अपने प्रभाग में नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करने को प्राथमिकता दी. भोईपुरा की सीवर लाइन काफी पुरानी होने से लीक हो गई थी जिससे लोगों के घरों में नलों से दूषित पानी आता था. लाइन बदलवाकर इस समस्या का समाधान किया. खापरीपुरा से हनुमान मंदिर तक सीमेंट रोड का काम हुआ. उन्होंने बताया कि सभी विधायकों ने विकास कार्य के लिए फंड दिया. महापौर ने काफी मदद की. करीब 6 करोड़ रुपयों के सीमेंट रोड के काम हुए. समाज भवन और लाइब्रेरी के रिपेयरिंग का कार्य करवाया. उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी काल में जरूरतमंदों के घरों तक भोजन वितरण किया. हर तरह से मदद का प्रयास किया.

    15 वर्षों बाद हुआ विकास : यंगटवार

    प्रभाग 22 की भाजपा नगरसेविका वंदना यंगटवार ने कहा कि 15 वर्षों से प्रभाग में जो कार्य नहीं हुए वह अपने कार्यकाल में कर दिया. बस्तियों की सारी गलियां सीमेंट की हो गई. रेडलाइट एरिया में पानी की समस्या थी जिसे ओसीडब्ल्यू की मदद से हल किया. दरगाह रोड बनाया, जगन्नाथ मंदिर के परिसर में आईब्लाक्स लगवाए. सारे एरिया में स्ट्रीट लाइट लगवाई. फव्वारा चौक से अहिंसा चौक तक बड़ा सीमेंट रोड बना, गडर लाइन की समस्या तो पूरी तरह से हल कर दी गई.

    पूरी बस्ती में जगह-जगह पर कुर्सियां लगवाईं. भाजी मंडी, सराफा रोड चकाचक कर दिया गया. उन्होंने कहा 15 वर्षों में जो काम नहीं हुए बीते 5 वर्ष में किये गए. सभी विधायकों से विकास कार्यों के लिए फंड मिला. कोरोना काल में तात्कालीन मनपा आयुक्त ने फंड रोक दिया था. मिशन शाला गिराकर लाइब्रेरी का निर्माण हुआ है. वन्देमातरम अस्पताल जल्द ही शुरू होने वाला है. प्रभाग में छिटपुट कार्य ही बचे हैं जो 2 महीनों में पूरे कर लिए जाएंगे. 

    खुशी हो या गम, नागरिकों के साथ : कन्हेरे

    प्रभाग 19 से भाजपा नगरसेविका विद्या कन्हेरे ने बताया कि अपने प्रभाग के नागरिकों के साथ बीते 10 वर्षों से घरेलू संबंध बनाए हैं. उनकी हर छोटी-बड़ी अड़चनों व समस्याओं के निराकरण का प्रयास करती रहती हैं. जनसंपर्क नियमित जारी रहता है. बीते कार्यकाल में प्रभाग में करीब 6 करोड़ रुपयों से सीमेंट रोड के कार्य हुए हैं. शालाओं के विकास को प्राथमिकता दी है.

    भालदारपुरा में वर्षों पुरानी गडरलाइन को बदलवाकर समस्या का निराकरण किया. 2017 के पहले 5 वर्ष के कार्यकाल में प्रभाग की छोटी-छोटी मूलभूत सुविधाओं रोड, गली, गडरलाइन, स्ट्रीट लाइट आदि के कार्य किये. उसके बाद बीते 5 वर्षों में 2 वर्ष कोरोना महामारी में बीते. जरूरतमंद नागरिकों की हरसंभव मदद का प्रयास किया. विकास निधि आयुक्त रोक दी थी जिससे कुछ समय के लिए कार्य प्रभावित भी हुए. 

    वर्षों पुरानी समस्याओं का हल : भिसीकर

    प्रभाग 21 की भाजपा नगरसेविका डॉ. ज्योति भिसीकर ने बताया कि उन्होंने प्रभाग की बस्तियों की सबसे पुरानी व गभीर समस्या गडरलाइन पर अधिक ध्यान दिया. 50-60 वर्ष पुरानी लाइन के ऊपर लोगों ने अतिक्रमण कर निर्माण कार्य कर लिया था. शांतिनगर में बारिश में करीब 100 से अधिक घरों में रिवर्स पानी भरता था.

    नई ड्रेनेज लाइन डलवाने के लिए अतिक्रमण तोड़ने का नागरिक विरोध कर रहे थे. तब मनपा आयुक्त की मदद से वह कार्य किया. करीब 8 करोड़ रुपयों के सीमेंट रोड का काम हुआ. 3-4 करोड़ की निधि विधायक कृष्णा खोपड़े ने सीमेंट रोड के लिए अपनी निधि से दिया. साईनगर कामठीपुरा में समाज भवन का निर्माण किया. राजराजेश्वरी विहीर सौदर्यीकरण, 2 कुंओं को पुनर्जीवित करने का कार्य, मस्कासाथ में शौचालय निर्माण, लालगंज में सीवर लाइन का काम करवाया.

    ज्योति ने कहा कि बच्चों की फिजिकल एक्टिविटी को बढ़ाने के लिए प्रभाग में सर्वसुविधायुक्त खेल मैदान विकसित करना है जिसमें बास्केटबाल, बैडमिंटन, फुटबाल आदि खेला जा सके. उन्होंने कहा कि 1 लाख की जनसंख्या पर एक सब्जी बाजार होना चाहिए और इसे मनपा के बजट में शामिल किया जाना चाहिए. कोविड काल में 1 लाख मास्क और सैनिटाइजर का वितरण भी किया.