Onion of Lasalgaon on the postal envelope, the postal department is branding the onion

    लासलगांव. लासलगांव (Lasalgaon) की प्याज (Onion) विश्व प्रसिद्ध है। इस प्याज के कारण जिले के लासलगांव शहर (Lasalgaon City) ने अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की है। इसका बेहतरीन स्वाद हर किसी के मन को भा जाता है। यही वजह है कि लासलगांव के प्याज की ब्राडिंग अब डाक विभाग (Post Office) कर रहा है। जी हां!, डाक विभाग ने ‘लासलगांव प्याज’ शीर्षक से एक डाक लिफाफा जारी किया है। इसका अनावरण अतिथियों द्वारा किया गया। इस लिफाफे पर प्याज की सुंदर तस्वीर से लासलगांव के प्याज की याद आ जाएगी। प्याज और लासलगांव शहर का एक अलग रिश्ता है। 

    जिले में उत्पादित प्याज को अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में अधिक ऐतिहासिक और पारंपरिक मूल्य मिलना चाहिए और विश्व स्तर पर भी पहुंचना चाहिए। कार्यक्रम में मालेगांव पोस्ट अधीक्षक नितिन येवला ने कहा कि इस विरासत को संरक्षित करने के लिए भारतीय डाक विभाग ने ‘लासलगांव प्याज’ नामक एक विशेष डाक लिफाफा जारी करने की पहल की है।

    पोस्ट लिफाफे का हुआ अनावरण

    लासलगांव पोस्ट कार्यालय में हुए कार्यक्रम में ‘लासलगांव प्याज’ विशेष पोस्ट लिफाफे का अनावरण मुंबई कृषि उत्पन्न मंडी समिति के संचालक तथा लासलगांव ग्राम पंचायत के सरपंच जयदत्त होलकर, लासलगांव मंडी समिति की सभापति सुवर्णा जगताप, मालेगांव पोस्ट विभाग के अधीक्षक नितीन येवला, लासलगांव व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष नंदकुमार डागा, बलीराजा समूह के अध्यक्ष राहुल पाटील, मंडी समिति के सचिव नरेंद्र वाढवणे, लासलगांव के सहायक पुलिस निरीक्षक राहुल वाघ, प्याज व्यापारी हेमंत राका की प्रमुख उपस्थिति में किया गया। जयदत्त होल्कर, सुवर्णा जगताप, राहुल पाटिल, नंदकुमार डागा और प्याज व्यापारी हेमंत राका ने अपने विचार व्यक्त किए। 

    डाक विभाग ने किया सराहनीय कार्य

    वक्ताओं ने कहा कि यह सराहनीय है कि डाक विभाग ने नाशिक जिले की प्याज का नाम फैलाने के लिए ‘लासलगांव प्याज’ नामक एक विशेष डाक लिफाफा जारी किया है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस पहल के लिए डाक विभाग को विशेष धन्यवाद क्योंकि यह डाक लिफाफों के माध्यम से पूरी दुनिया में जाएगा। कार्यक्रम की प्रस्तावना पोस्ट विभाग के संदीप रेपे ने की। डाक निरीक्षक मनमाड़ पंकज दुसाने ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए डाक निरीक्षक चांदवड राजेंद्र वानखेडे, पोस्ट मास्टर लासलगांव शांताराम हरकल, डाक अवेक्षक डी आर दिवेकर, चांदवड साथ ही सभी लासलगांव पोस्ट विभाग के कर्मचारी और शाख डाकपाल और अल्पबचत प्रतिनिधि उपस्थिति रहे।

    विरासत को संरक्षित करने की पहल

    लासलगांव की पहचान वाले प्याज को 2016 की भौगोलिक रैंकिंग मिली थी। भारतीय डाक विभाग ने ऐतिहासिक और पारंपरिक मूल्यों के साथ लासलगांव के प्याज को बढ़ावा देने, प्याज को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने और इसे विरासत के रूप में संरक्षित करने के लिए ‘लासलगांव प्याज’ नामक एक विशेष लिफाफे का अनावरण किया है। एशिया में अपने स्वाद के लिए मशहूर लासलगांव प्याज ने चाहने वालों की आंखों में आंसू ला दिए हैं। गिरती कीमतों से किसानों की आंखों में आंसू ला चुका प्याज दिल्ली सरकार को उखाड़ फेंकने की ताकत रखता है। केंद्र और राज्य सरकारों, कृषि विभाग और डाक विभाग द्वारा संयुक्त रूप से जीआई नामांकित कृषि उत्पादों को पोस्ट पॉकेट पर रखने का निर्णय लिया गया। इसका वास्तविक क्रियान्वयन लासलगांव डाकघर में किया गया है।