sinnar flood

    Loading

    सिन्नर : भारी वर्षा (Heavy Rain) के कारण शहर के भैरवनाथ मंदिर क्षेत्र, सिन्नर आईटीआई के पीछे बसी बस्ती, शहर के पास की बस्तियों में कई परिवार पानी में फंस गए।  सिन्नर पुलिस (Sinnar Police), नगर पालिका (Municipality) और चंदोरी की आपदा प्रबंधन टीम ने बाढ़ में फंसे लोगों को जान की परवाह किए बिना बचाया। एक दूसरे की मदद के लिए लोग इस कदर आगे आए हैं, वह एक मिसाल बन गई है। 

    पूर्व विधायक राजाभाऊ वाजे, युवा नेता उदय सांगले, संदीप सांगले, पप्पू आभाले, मनोज भगत, प्रमोद छोथवे, विजय सावंत, सोमनाथ पावसे, नासिक वीस मित्र मंडल के पदाधिकारियों, शिवशाही फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने बचाव अभियान में मदद की। कई समाजसेवियों ने कई लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की। पूर्व महापौर विट्ठल उगले, हर्षद देशमुख, पंकज जाधव, मल्लू पाबल आदि ने भी कंडी माला, गंगावेस, विजयनगर में आपदा राहत के लिए राहत कार्य जारी रखा। संगमनेर नाका के परिवारों का समर्थन करते हुए पूर्व पार्षद नामदेव लोंधे ने परिवारों को सांत्वना दी और बाढ़ पीड़ितों की मदद की। पूर्व विधायक राजाभाऊ वाजे और कई समाजसेवियों ने बाढ़ में फंसे परिवारों को जेसीबी की मदद से बचाया। कई घर ढहने से कई परिवार बेघर हो गए हैं। 

    कई परिवारों का जीवन बर्बाद हो गया है और प्रशासन ने इन परिवारों की मदद की है। सिन्नर के लोगों के कई परिवारों को मंगल कार्यालय में रखा और उनके भोजन और रहने की व्यवस्था की। सभी सिन्नरवासियों ने एकजुट होकर राहत कार्य जारी रखा था। सिन्नर शहर में कई जगह गाद जमा होने से सड़कों पर आवागमन बंद हो गया है। सरकारी राहत के की प्रतीक्षा न करते हुए लोगों ने एक दूसरे की मदद करके यह संकेत दे दिया कि विपत्ति में ही एक दूसरे की पहचान होती है।