‘वैक्सीनेशन ऑन व्हील्स’ उपक्रम को मिली सराहना, एक लाख से ज्यादा लोगों का किया गया टीकाकरण

    नाशिक : स्वदेश फाउंडेशन (Swadesh Foundation) की ओर से नाशिक जिले (Nashik District) में कोविड टीकाकरण (Covid Vaccination) “व्हॅक्सिनेशन ऑन व्हील” (Vaccination on Wheel) नामक अनोखा कार्यक्रम संचालित किया। एम्बुलेंस (Ambulance) के माध्यम से गांव – गांव जाकर कोरोना टीकाकरण का काम नामक उपक्रम के माध्यम से किया गया। पिछले महीने नवंबर में नाशिक जिला प्रशासन (District Administration) के मार्गदर्शन में जिला परिषद (District Council) और स्वदेश फाउंडेशन के बीच सामंजस्य करार किया गया था। इस उपक्रम का शुभारंभ मुख्य कार्यकारी अधिकारी लीना बंसोड, उप जिला अधिकारी गणेश मिसाल, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कपिल आहेर, डॉ. कैलाश भोये के मार्गदर्शन में इगतपुरी, पेठ, त्रंबकेश्वर और सुरगाणा इन चार आदिवासी तहसीलों में किया गया था। व्हॅक्सिनेशन ऑन व्हील कार्यक्रम में स्वदेश फाउंडेशन की ओर से नर्स, डेटा एंट्री ऑपरेटर, चालक, एम्बुलेंस और  एम्बुलेंस में लगने वाले पेट्रोल का खर्च किया गया और जिला प्रशाशन की ओर से कोविड-19 का टीकाकरण किया गया। 

    घर-घर टीकाकरण अभियान के कारण लक्ष्य जल्दी पूरा कर लिया गया। यह अभियान को व्यापक पर सराहना मिली। सुरगाणा में 16,026, नंदगांव में 12,124, पेठ में 11,369, त्र्यंबकेश्वर में 11,287, बागलाण में 10,721, येवला में 9629, निफाड में 9528, इगतपुरी में 8852, मालेगांव (7618) और चांदवड़ (6060) लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इस तरह जिले में कुल 1,03,226 लोगों का टीका लगाया जा चुका है। 

    नासिक जिले में सेवा दे रही 14 व्हॅक्सिनेशन ऑन व्हील एंबुलेंस 

    स्वदेश फाउंडेशन मुंबई के संस्थापक रॉनी स्क्रूवाला और जरीना स्क्रूवाला, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मंगेश वांगे, संचालक राहुल कटारिया, उप संचालक तुषार इनामदार, महाप्रबंधक डॉ. सुरेंद्र यादव, व्यवस्थापक डॉ. सचिन अहिरे के सहयोग से व्हॅक्सिनेशन ऑन व्हील या उपक्रम लक्ष्य पूरा किया गया।  आदिवासी तहसीलों में मिले प्रतिसाद के कारण जिला प्रशासन ने कुछ और स्थानों, कुछ तहसीलों में टीकाकरण वैन सुविधा देने की अपील भी की गई। इस अपील के बाद टीकाकरण में और ज्यादा गति मिले, इसके लिए जिले में 10 और टीकाकरण एम्बुलेंस स्वदेश फाउंडेशन उपलब्ध करवाई, इस तरह कुल 14 एम्बुलेंस नाशिक जिले में सेवा दे रही थी। व्हॅक्सिनेशन ऑन व्हील उपक्रम के कारण सुरगाणा, नांदगाव, पेठ, त्रंबकेश्वर, बागलाण, येवला, निफाड, इगतपुरी, मालेगांव और चांदवड तहसीलों में टीकाकरण को अच्छी गति मिली।