खड़से को ED के नोटिस पर NCP आक्रामक

  • केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
  • भाजपा पर बदले की भावना से राजनीति करने का आरोप

जलगांव. खानदेश के कद्दावर नेता तथा भाजपा के बागी पूर्व मंत्री एकनाथराव खड़से (Eknathrao Khadse) को ईडी (Ed) का नोटिस दिए जाने के कारण राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) ने भाजपा (BJP) की बदले की भावना नीति का विरोध करते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की है।

एनसीपी (NCP) ने कहा है कि जानबूझकर भाजपा खड़से को परेशान करने के लिए ईडी का दुरुपयोग कर रही है। भाजपा के दबाव तंत्र को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। खड़से के खिलाफ जारी किया नोटिस वापस नहीं लिया गया तो व्यापक पैमाने पर आंदोलन करने की चेतावनी एनसीपी ने आंदोलन के वक्त दी है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने रविवार को केंद्र सरकार के दबाव तंत्र की नीति के खिलाफ आंदोलन किया। इस दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और विरोधियों के ऊपर ईडी, इनकम टैक्स विभिन्न प्रकार की जांचों का दबाव बनाकर प्रताड़ित करने की नीति का विरोध किया है।

पार्टी कार्यालय में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

हाल ही में भाजपा छोड़कर खड़से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP)  में शामिल हो गए थे। उन्हें भोसरी में भूमि लेनदेन मामले में ईडी द्वारा पेशी का नोटिस भेजा गया है। इसी के खिलाफ़ एनसीपी ने विरोध प्रदर्शन किया। आक्रामक होकर अशोक लाड वंजारी ने कहा कि भाजपा बदला लेने की राजनीति कर रही है और खड़से को ईडी का नोटिस इसका एक हिस्सा है. आरोप लगाते हुए जलगांव जिला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस  अभिषेक पाटिल, युवती कांग्रेस जिलाध्यक्षा कल्पिता पाटिल, पूर्व नगरसेवक अशोक लाड वंजारी, सुनील माली, वाल्मीक पाटिल, प्रदीप भोले, अजय बढ़े आदि उपस्थित थे।

बीजेपी द्वारा बदले की राजनीति की जा रही है। खिलाफ बोलने वालों के पीछे ईडी को लगाया जा रहा है। एक प्रकार से विरोधियों को दबाने की कोशिश भाजपा कर रही। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इससे पहले, एसीबी, भ्रष्टाचार निरोधक और ज्वाइंट कमेटी ने भोसरी प्लॉट के लेनदेन की गहन जांच करने के बाद खड़से को क्लीन चिट दे दी थी। फिर से ईडी की नोटिस इसे से साफ साबित होता है, कि BJP बदले की भावना के देश विरोधी की जबान दबाने का प्रयास कर रही है। तत्काल नोटिस वापस लिए जाएं। अन्यथा केंद्र सरकार के खिलाफ एनसीपी कर आंदोलन खड़ा करेंगे।

-अभिषेक पाटिल, महानगराध्यक्ष