प्रतिकात्मक तस्वीर
प्रतिकात्मक तस्वीर

    पिंपरी: स्कूल (Schools) शुरू होने के दो माह बाद ही क्यों न हो पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका प्रशासन (Pimpri-Chinchwad Municipal Administration) ने महानगरपालिका स्कूलों (Municipal Schools) के विद्यार्थियों (Students) को गणवेश देने की सुध ली है। प्रशासन ने स्कूल यूनिफॉर्म (Uniforms) खरीदी प्रशासन ने महानगरपालिका स्कूली विद्यार्थियों के लिए गणवेश और स्वेटर खरीदने का फैसला किया है। स्थायी समिति ने इस खरीद को मंजूरी दे दी है। महानगरपालिका प्रशासक राजेश पाटिल ने इस बैठक में 28 करोड़ 34 लाख रुपए की मंजूरी दी है। 

    स्थायी समिति की बैठक में विभिन्न विकास कामों को मंजूरी दी गई। यशवंतराव चव्हाण मेमोरियल हॉस्पिटल पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट के लिए एडवांस सेट के लिए अल्ट्रा हाई डेफिनिशन कैमरा सिस्टम खरीदने के लिए 5 करोड़ 52 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इस व्यय को महानगरपालिका कमिश्नर पाटिल द्वारा भी अनुमोदित किया गया है। कमिश्नर ने वर्ष 2021-22 के लिए पीएमपीएमएल को 16 करोड़ रुपए के परिचालन घाटे की राशि के भुगतान के व्यय सहित प्रावधानों के वर्गीकरण के मामलों को मंजूरी दी है।

    अन्य कई कामों को दी गई मंजूरी

    दिघी में श्मशान घाट की चहारदीवारी का निर्माण, बोपखेल में महानगरपालिका विद्यालय के कक्षों का निर्माण, पिंपरी गांव में स्वीकृत विकास योजना के तहत 5 लाख लीटर क्षमता के ऊंचे टैंक को तोड़कर नए एलिवेटेड टैंक का निर्माण, मुंबई-बंगलुरु हाइवे पर पुनावले और रावेत से 60 मीटर राजमार्ग पर 1200 मीटर सर्विस रोड से प्रभावित भूमि के अधिग्रहण आदि कामों को मंजूरी दी गई। वार्ड नंबर 29 पिंपले गुरव क्षेत्र में जल निकासी पाइप बिछाने और सुधार कार्यों के लिए 21 लाख, पिंपरी में तपोवन मंदिर के पास सड़कों के निर्माण के लिए 1 करोड़ 11 लाख, नासिक फाटा से वाकड सड़क और फुटपाथ के रखरखाव और मरम्मत के लिए 78 लाख, कालेवाड़ी फाटा से देहु आलंदी मार्ग के मरम्मत कार्यों के लिए एक करोड़ 17 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। 

    ड्रेनेज सिस्टम में सुधार के लिए इतने रुपए होंगे खर्च

    वार्ड संख्या 9 में गोदाम भवन और अन्य संपत्तियों की मरम्मत के लिए 34 लाख, वार्ड संख्या 31 में नेताजी नगर और अन्य क्षेत्रों में जल निकासी व्यवस्था में सुधार और संयुक्त जल निकासी और बरसाती जल लाइनों को अलग करने के लिए 39 लाख, वार्ड नं.30 में एक साथ आने वाली ड्रेनेज और स्टॉर्म वॉटर लाइन को अलग करने और शास्त्रीनगर, वंजारी चाल, फुगेवाड़ी में फुगे चाल, कासारवाड़ी में वाडर बस्ती और अन्य क्षेत्रों में ड्रेनेज सिस्टम में सुधार के लिए 52 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।