अजान की प्रेमी शिवसेना भाजपा से सीखे राष्ट्रीयता : शेलार

ठाणे. भाजपा के ठाणे प्रभारी और विधायक आशीष शेलार (MLA Ashish Shelar) ने शिवसेना (ShivSena) पर तंज कसते हुए कहा कि महाराष्ट्र की सत्ता पर काबिज शिवसेना आज अजान की प्रेमी हो गई है। ऐसे में वह भाजपा द्वारा आयोजित गीता पठन (Geeta recitation) और वंदेमातरम (Vande Mataram) गायन की प्रतियोगिता से कुछ सद्बुद्धि सीखे। उन्होंने कहा कि ठाणे भाजपा के इस तरह के आयोजन से यह भी साफ हो गया है कि राष्ट्र भक्ति कौन कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारतरत्न दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी (Bharat Ratna late Atal Bihari Vajpayee) की जयंती और गीता जयंती के दोहरे योग को एक साथ जोड़कर शुक्रवार को सहयोग मंदिर में भाजपा आध्यात्मिक समन्वय आघाड़ी द्वारा गीता पठन और बुद्धजीवी प्रकोष्ठ के माध्यम से वंदेमातरम गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था।

प्रतियोगिता में पुरस्कार वितरण के लिए भाजपा के ठाणे प्रभारी आशीष शेलार कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान शहर अध्यक्ष व विधायक निरंजन डावखरे (MLA Niranjan Dawkhare), विधायक संजय केलकर (MLA Sanjay Kelkar), प्रदेश सचिव संदीप लेले, मनपा में गुटनेता संजय वाघुले, महिला मोर्चा की शहराध्यक्षा मृणाल पेंडसे, नगरसेवक सुनेश जोशी आदि उपस्थित थे। 

इस दौरान विधायक आशीष शेलार ने कहा कि राज्य की सत्ता पर काबिज शिवसेना हिंदुत्ववादी विचार को भूल अजान के प्रेम में पड़ चुकी है। उन्होंने कहा कि संतुलित जीवन जीने के साथ ही कर्तव्य और भावनाओं की शिक्षा हमें भगवत गीता से मिलती है। इसके लिए गीता का पठन करना जरूरी है। इसी तरह राष्ट्र भावना को जागृत करने के लिए वंदे मातरम गायन भी उतना ही आवश्यक है। उन्होंने शिवसेना पर प्रहार करते हुए कहा कि आज शिवसेना अजान प्रतियोगिता का आयोजन कर रही है, जबकि भाजपा राष्ट्रप्रेम के लिए वंदे मातरम और भगवत गीता के पठन की प्रतियोगिता ले रही है। इससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि राष्ट्र भक्ति की राह पर एक कदम आगे कौन-सा दल है। इसे आज जनता भी समझ रही है। 

ग्राम पंचायत चुनाव में उड़ेगी महाविकास आघाड़ी की नींद

भाजपा विधायक आशीष शेलार ने कहा कि विधान परिषद चुनाव में महाविकास आघाड़ी सरकार में शामिल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने एक साथ चुनाव मैदान में उतरी थीं। इसके चलते उन्हें इस चुनाव में सफलता और हम जीत नहीं सके। हालांकि इस चुनाव के बाद भाजपा ने हार पर चिंतन किया है। इस चिंतन के आधार पर हम सफलता अर्जित करने के लिए तैयारियों को पूरा कर चुके हैं। इसी क्रम में हमने ग्राम पंचायत चुनाव की भी तैयारी कर ली है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत का चुनावी परिणाम आने के बाद यह चित्र साफ दिखाई देगा कि उस समय महाविकास आघाड़ी की नींद उड़ चुकी होगी।