Bhiwandi Municipal Corporation

    भिवंडी : आगामी महानगरपालिका चुनाव (Municipal Elections) के मद्देनजर चुनाव आयोग के निर्देशानुसार भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) प्रभाग सीमाओं (Division Boundaries) की रचना फिर से शुरू हो गई है। महानगरपालिका कमिश्नर (Municipal Commissioner) सुधाकर देशमुख (Sudhakar Deshmukh) की देखरेख में हो रही प्रभाग रचना को लेकर महानगरपालिका प्रशासन बेहद सतर्कता बरत रहा है।

    चुनाव लड़ने के इच्छुक तमाम प्रत्याशी प्रभाग रचना के बारे में सूचना के लिए बेताब हैं बावजूद महानगरपालिका की सतर्कता के कारण कोई भी जानकारी नहीं मिल रही है। चुनावी समर में भाग्य आजमाने वाले इच्छुक प्रत्याशियों में प्रभाग रचना को लेकर भारी बेचैनी व्याप्त है।

    गौरतलब है कि भिवंडी महानगरपालिका चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों की कमोबेश सरगर्मियां तेज हो रही हैं। जनसंख्या वृद्धि की वजह से 90 नगरसेवकों की महानगरपालिका में 11 सदस्यों की बढ़ोतरी होने से प्रभाग सीमाओं की फिर से रचना किया जाना नितांत आवश्यक है। आगामी महानगरपालिका चुनाव में 11 नए महानगरपालिका नगरसेवकों के बढ़ने से चुनाव आयोग के निर्देशानुसार पुरानी प्रभाग सीमाओं की फिर से रचना महानगरपालिका प्रशासन द्वारा बेहद गोपनीयता से अंजाम दी जा रही है।

    कमिश्नर प्रभाग सीमाओं की रचना की कर रहे है मानिटरिंग 

    महानगरपालिका कमिश्नर सुधाकर देशमुख बेहद सतर्क होकर प्रभाग सीमाओं की रचना की मानिटरिंग कर रहे हैं। आगामी महानगरपालिका चुनाव लड़ने के इच्छुक तमाम राजनीतिक दलों के वर्तमान नगरसेवक और इच्छुक प्रत्याशी चाह कर भी महानगरपालिका प्रभाग सीमाओं की फिर से शुरू रचना की कोई भी जानकारी पाने में असफल साबित हो रहे हैं। महानगरपालिका  जनप्रतिनिधि भी लाख कोशिशों के बावजूद अपने वार्डों की फिर से हो रही नई रचना की कोई भी सूचना महानगरपालिका अधिकारियों से नहीं पा रहे हैं। 

    चुनाव आयोग के निर्देश पर बरती जा रही गोपनीयता

    सूत्रों की माने तो चुनाव आयोग के निर्देशानुसार चुनाव प्रक्रिया के समस्त कामकाज को बेहद गोपनीय तरीके से किया जा रहा है। महानगरपालिका कमिश्नर सुधाकर देशमुख प्रभाग सीमाओं की फिर से नई रचना प्रक्रिया को कार्यान्वित करने में जुटे हैं लेकिन नई प्रभाग सीमाओं की रचना की जानकारी कहां और कैसे हो रही है यह किसी भी महानगरपालिका अधिकारी समेत जनप्रतिनिधि को कत्तई पता नहीं है। अधिसंख्य महानगरपालिका जनप्रतिनिधियों का कहना है कि भिवंडी महानगरपालिका क्षेत्र अंतर्गत 90 वार्ड से अब 101 वार्ड हो गए हैं।

    रचना की प्रक्रिया अंजाम देते समय सभी बातों को ध्यान में रखना चाहिए

    महानगरपालिका 11 नए  वार्ड को महानगरपालिका क्षेत्र अंतर्गत जनसंख्या वृद्धि के आधार पर समाहित किया जाना है। महानगरपालिका प्रशासन को प्रभाग सीमाओं में फिर से रचना की प्रक्रिया अंजाम देते समय सभी बातों को ध्यान में रखना चाहिए। महानगरपालिका के एक शीर्ष अधिकारी ने नाम न छापे जाने की शर्त पर बताया की चुनाव आयोग के निर्देशानुसार प्रभाग सीमाओं में फिर से रचना का काम कुशल अधिकारियों की टीम द्वारा बेहद गोपनीय तरीके से अंजाम दिया जा रहा है। महानगरपालिका कमिश्नर देशमुख प्रभाग सीमाओं में फिर से हो रही रचना को लेकर बेहद सतर्क हैं। कमिश्नर देशमुख ने संबंधित अधिकारियों को प्रभाग रचना संबंधी कोई भी जानकारी किसी से भी साझा नहीं करने के निर्देश दिए हैं अन्यथा अनुशासनात्मक कड़क कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी है। 

    11 में से आधे वार्ड हिंदू बहुल और आधे वार्ड मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में बढ़ने के आसार

    आगामी चुनाव में 90 नगरसेवकों की महानगरपालिका 101 नगरसेवकों की हो जाएगी। महानगरपालिका चुनाव में 11 नए बढ़ने वाले नगरसेवकों में करीब आधे वार्ड हिंदू बहुल एवं आधे वार्ड मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में बढ़ने के आसार हैं। चुनावी गणित को देखते हुए इच्छुक प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ने की लामबंदी शुरू कर वोटरों को लुभाने में जुट गए हैं।