Maharashtra: Power supply disrupted in Pune due to technical reasons, trouble to people
Representative Photo

  • मुख्यमंत्री व महावितरण को सौंपा ज्ञापन

आष्टी शहीद. बिजली बिल में 50 फीसदी सहूलियत तथा बिल कश्ति में स्विकारने की मांग भाजपा ने मुख्यमंत्री व महावितरण की ओर ज्ञापन सौंपकर की है. 

कोरोना प्रतिबंध के तौर पर केन्द्र व राज्य सरकार ने महाराष्ट्र में मार्च माह से लॉकडाऊन शुरु किया. जिससे घरेलु बिजली ग्राहकों को गत तीन माह से बिल नही मिला. शासन ने लॉकडाऊन शिथिल करते ही महावितरण ने घरेलु बिजली ग्राहकों को तीन माह का एकत्रित बिल वितरित किया. परंतु इस बिल में बढे हुए आंकडे देकर ग्राहक चौक गए है. महावितरण द्वारा प्रत्यक्ष रिडिंग लेकर बिल निकाला गया या औसत बिल दिया गया, इस संबंध में ग्राहकों में संभ्रम है. पहले ही ग्राहक आर्थिक संकट से जूझ रहे है. अब यह बढे हुए बिल से ग्राहकों में रोष व्याप्त है. इस संबंध में भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने आष्टी स्थित महावितरण कार्यालय के अभियंता से चर्चा कर उपकार्यकारी अभियंता को ज्ञापन सौंपा. जिसमें 50 फीसदी बिजली बिल में सहूलियत तथा बिल कश्ति में अदा करने की सुविधा देने की मांग की गई.

ज्ञापन सौंपते वक्त भाजपा तहसील अध्यक्ष कमलाकर निंभोरकर, नप गुटनेता अशोक विजयकर, शहर अध्यक्ष एड मनिष ठोंबरे, नगरसेवक सुरेश कालबांडे, अजय लेकुरवाले, पूर्व सरपंच भरत वणझारा, भाजपा पदाधिकारी विलास चोहटकर, गजानन होले, संजय दारोकर, विजय नेरकर, प्रज्वल चोहटकर, संदीप पोकले, तुषार गुजर, विलास मुंदाने मौजूद थे.