bjp

    • भाजपा ओबीसी मोर्चा का महामहिम राज्यपाल को निवेदन

    वाशिम. राज्य में ओबीसी का राजनीतिक आरक्षण लागू होने तक स्थानीय स्वराज्य संस्था के चुनाव आगे ढकलने की मांग भाजपा ओबीसी मोर्चा जिला शाखा की ओर से की गई है़  जिलाध्यक्ष संतोष मुरकुटे के नेतृत्व में व सभी पदाधिकारियों की उपस्थिति में मंगलवार को जिलाधिकारी के द्वारा महामहिम राज्यपाल को एक निवेदन भेजा गया़ 

    निवेदन में राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार ने स्थानीय स्वराज्य संस्था के ओबीसी आरक्षण बताने के लिए अध्यादेश निकालकर सरकार ओबीसी समाज के साथ है़  ऐसा दिखावा किया है़  यह अध्यादेश सर्वोच्च न्यायालय में टिकेगा नहीं ऐसा संदेह ओबीसी समाज में था़  कारण सर्वोच्च न्यायालय ने निर्देशित किए नुसार राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार ने गत 2 वर्ष से ओबीसी का इम्पेरीकल डेटा जमा करने के लिए आयोग का तो गठन किया.

    लेकिन आयोग को किसी भी प्रकार से अधिकार नहीं दिया़  और आवश्यक 450 करोड़ की निधि का प्रावधान भी नहीं किया़  जिससे एम्पेरिकल डेटा जमा करने के लिए आयोग को एजेंसी नियुक्त करना संभव नहीं हुआ़  परिणाम तहा न्यायालय को अपेक्षित एम्पेरिकल डेटा जमा करने के लिए राज्य सरकार से किसी भी प्रकार से कार्रवाई नहीं की गई़  सर्वोच्च न्यायालय ने वापस एम्पेरिकल डेटा नहीं रहने से सरकार ने निकाले अध्यादेश को स्थगिती दी़.

    ओबीसी समाज को केवल दिखाने के लिए महाराष्ट्र की आघाड़ी सरकार ने ओबीसी आरक्षण के लिए अध्यादेश निकाला था़  ऐसा आरोप है़  6 दिसंबर 2021 को राज्य सरकार ने निकाले अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट ने स्थगिती दी़  व साथ ही में जब तक राज्य सरकार ओबीसी का डेटा उपलब्ध नहीं कराते तब तक आसन्न सभी स्थानीय स्वराज्य संस्था के चुनाव इस ओबीसी आरक्षण के सिवाय लेने का मत न्यायालय ने दर्ज किया है़  इसलिए अब महाराष्ट्र के सभी ओबीसी समाज के अनुसार ओबीसी विरोधी महाराष्ट्र के इस शिवसेना, राष्ट्रवादी व काँग्रेस इन तीघाड़ी सरकार के कारभार से व ओबीसी समाज रहनेवाले उदासिनता से अध्यादेश को स्थगिती मिली है. 

    राज्य सरकार के ओबीसी के आरक्षण कोर्ट में नहीं टिकाने से ओबीसी समाज पर अन्याय होकर आगामी होनेवाली सभी चुनाव रद्द करने की मांग की गई है़  निवेदन देते समय भाजपा शहराध्यक्ष राहुल तुपसांडे, भाजपा ओबीसी सेल जिलाध्यक्ष संतोष उर्फ बालु मुरकूटे, भाजयुमो प्रदेश सदस्य मोहन बली, भाजपा महामंत्री गणेश खंडालकर, सुनील तापडिया, भाजयुमो जिलाध्यक्ष विराज पाटिल, किसान मोर्चा जिला महासचिव जगदीश देशमुख, करुणा कल्ले, भाजपा महिला मोर्चा महासचिव छाया पवार, डिगांबर खोरणे, पूर्व सैनिक राम ठेंगडे, जी. एम. पवार, सचिन शर्मा, महादेव लांभाडे के साथ भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे़.