चार्ज संभालते ही यवतमाल पंस. के बीडीओ के चेहरे पर पोती कालीख

    • आवास योजना,रोजगार गैरंटी का लाभ न मिलने से लाभार्थीयों-अधिकारीयों के बीच हुआ विवाद
    • पुलिस ने लाभार्थी और संगठना के पदाधिकारी को लिया हिरासत में

    यवतमाल. यवतमाल पंचायत समिती में आज 21 जुन से पदभार संभालनेवाले ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर केशव लक्ष्मण गड्डापोल को अनुचित घटना का सामना करना पडा, आवास और रोजगार गैरंटी योजना के लाभार्थी  द्वारा ज्ञापन सौंपते समय हुए विवाद में बीडीओ को गड्डापोल के चेहरे पर कालीख पोत दी गयी. इस घटना के बाद यवतमाल पंचायत समिती में हडकम्प मच गया. इसी बीच पुलिस ने पंचायत समिती में बीडीओ को कालीख पोतने और सरकारी काम में बाधा पहूंचाने के मामलें में संगम बहुउद्देशिय गवली समाज संगठन के पदाधिकारी और लाभार्थी महिलाओं को कब्जे में लेकर अवुधतवाडी पुलिस थाने पहूंचाया.

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक यवतमाल पंचायत समिती में आज 21 जुन की दोपहर में आवास योजना के तहत मिलनेवाली किश्त और रोजगार गैरंटी योजना के तहत मस्टर बुक के तहत मजदुरी की मांग करने पहुंचे महिला पुरुष लाभार्थीयों के बीच चर्चा के दौरान हुए विवाद में बीडीओ को कालीख पोतने की यह घटना हुई.पंस.सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बीडीओ गड्डापोल ने आज ही पंस.में बीडीओ का कामकाज संभाला था, जिससे उन्हे आवास और गैरंटी योजना से जुडे कामों और दफ्तर की कारवाई की जानकारी नही थी.

    एैसे में लाभार्थीयों ने उनके कक्ष में जाकर ज्ञापन देते हुए लाभ की मांग करते हुए हंगामा मचाया,साथ ही नए बीडीओ गड्डापोल के चेहरे पर कालीख पोत दी.पंस.में हुई इस घटना के बाद वहां हडकम्प मच गया, तो दुसरी ओर इस घटना का निषेध जताते हुए पुलिस कारवाई की मांग करते हुए बडी संख्या में पंस.के अधिकारी, कर्मचारी अवधुतवाडी पुलिस थाने में ईकठठा हो गए.जिसके बाद पुलिस ने इस मामलें में दोषीयों पर कारवाई शुरु की थी.

    पुलिस अधिकारीयों के सक्षम पंस.जिप. के अधिकारी ने थाने में मारपीट

    यवतमाल पंस.में बीडीओ के चेहरे पर कालीख पोते जाने की इस घटना के बाद जब अवधुतवाडी पुलिस थाने के थानेदार मनोज केदारे ने पंस.में हंगामा मचा रही लाभार्थी महिलाओं और संगम संस्था के पदाधिकारी दिगांबर अवथले को कब्जे में लेकर थाने पहूंचाया,इसी दौरान इस मामलें में शिकायत के लिए पहुंचे यवतमाल पंस. के विस्तार अधिकारी भोयर और घटना की जानकारी मिलने पर अवधुतवाडी थाने पहूंचे जिप.के डिप्टी सीईओ अरविंद गुडधे ने अवधुतवाडी पुलिस थाने के पुलिस अधिकारीयों के सामने ही लाभार्थीयों के साथ विवाद किया और संगम बहुउददेशिय गवली समाज संस्था के के पदाधिकारी दिगांबर आर.अवथले से विस्तार अधिकारी भोयर और डीप्टी सीईओ गुडधे ने मारपीट कर डाली.

    इस घटना के बाद थाने में भी हडकम्प मच चुका था.इस घटना के बाद पुलिस ने थाने में मारपीट करनेवाले अधिकारीयों और पंस.में हंगामा करनेवाले लाभार्थीयों पर पुलिस कारवाई शुरु की थी, जो देर शाम तक जारी रही.

    पंस.और थाने के सीसीटीवी फुटेज में हुई घटना दर्ज

    उल्लेखनिय है की जब बीडीओ के कक्ष में लाभार्थीयों ने बीडीओ के चेहरे पर कालीख पोती इसके बाद पंस. में हंगामा मचानेवाले लोगों को जब पुलिस ने अवधुतवाडी पुलिस थाने पहूंचा तब लाभार्थीयों से विवाद और संगठन के पदाधिकारी से प्रशासनिक अधिकारीयों ने मारपीट की घटना हुई, यह दोनों ही घटनाएं पंस.और पुलिस थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी.जिससे पुलिस इन दोनों मामलों में क्या कारवाई करती है, इस ओर सभी का ध्यान लगा हुआ था.

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक यवतमाल पंस.के तहत आवास योजना की किश्तें और लाभार्थीयों को लाभ देने के लिए यवतमाल पंस.स्तर पर उचित कारवाई न होने से गवली समाज संस्था के संपर्क प्रमुख दिगांबर आर.अवथले अनेक लाभार्थीयों के साथ दोपहर में पंस.समिती पहूंचे,जहां पर नए तौर पर नियुक्त हुए बीडीओ केशव गड्डापोल को लाभार्थीयों ने ज्ञापन सौंपा.

    जिसमें बताया गया की, पंस. के तहत अनेक लाभार्थीयों को आवास की पहली किश्त 15 हजार चुकाने के बाद दुसरी और तिसरी किश्त न चुकाने से लाभार्थीयों को अपने आवास का निर्माण करने का प्रयास करते हुए गहने गिरवी रखने पड रहे है, घर अधुरा होने से उन्हे रहने के लिए व्यवसथा नही है, जिससे पंस.स्तर पर उनहे लाभ की किश्तें तात्काल अदा करें, इसके अलावा नमुना 1 पेश करने पर भी मस्टर नही निकला है, इसके लिए केवल 15 से 20 दिन लगते है, लेकिन बिते 4 से 5 माह से लाभार्थी मजदुरों कों मस्टर के पैसे नही दिए गए है.

    इस ज्ञापन में पंस.की एपीओ स्नेहल खाडे और कॉम्प्युटर ऑपरेटर मनिषा वानखेडे कसे सुचना देने पर भी वह ग्राम रोजगार सेवक प्रकाश दादाराव मेटकर को मस्टर निकालकर नही दे रहे है, जिससे आवास लाभार्थीयों के घर न बनने से उन्हे खुले आकाश में रहना पड रहा है, यवतमाल पंस.द्वारा मामलें में उचित कारवाई न होने पर संगठना द्वारा लाभार्थीयों के साथ पंस.के सामने आंदोलन कर ताला ठोंकने की चेतावणी दी गयी थी.इसी बीच बीडीओ से चर्चा के दौरान उन्हे कालीख पोतने की घटना हुई.