शिंदे गुट ने उद्धव ठाकरे से की इस्तीफे की मांग, केसरकर बोले- बेहतर सरकार करेगी काम
File Pic

    सुरत: शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का सन्देश लेकर सुरत पहुंचे मिलिंद नार्वेकर और रवि फाटक के बीच मुलाकात समाप्त हो गई है। दोनों नेताओं के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बैठक चली। इसके इसके बाद दोनों नेता मुंबई के लिए निकल चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस बैठक ने दौरान शिंदे को साफ़ कह दिया है कि, अगर भाजपा के साथ आएंगे तो होगी वापसी।

    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, एकनाथ शिंदे ने शिवसेना के सामने प्रस्ताव रखा है। जिसमें उन्होंने एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन तोड़ कर वापस भाजपा के साथ सरकार बनाई जाए। अगर पार्टी भाजपा के साथ गठबंधन करती है तो सभी विधायकों की वापसी हो सकती है।

    मुंबई वापस आकर करें बात

    इस बातचित के दौरान ठाकरे ने पहले मुंबई आने और फिर बातचीत करने की बात कही। जिस पर शिंदे उन्हें भाजपा के साथ गठबंधन पर स्पस्ट करने को कहा। शिंदे ने कहा, आप भाजपा के साथ गठबंधन करेंगे के नहीं इस पर आपका स्टैंड क्या है उस बताएं।

    रश्मि ठाकरे के साथ हुई बात

    शिवसेना में चल रही इस उठपाथ में रश्मि ठाकरे की एंट्री हो गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, एकनाथ शिंदे के मान मनावल्ल करने पहुंचे मिलिंद नार्वेकर ने शिंदे की बात रश्मि ठाकरे से कराइ। इस दौरान बागी मंत्री ने भाजपा के साथ गठबंधन की बात दोहराई। इसी के साथ उन्होंने कहा कि, हम राष्ट्रवादी और कांग्रेस के साथ नहीं रह सकते। पार्टी को टूटने से बचाना है तो भाजपा के साथ आएं।

    भाजपा का पूरे घटना क्रम पर नजर

    एक ओर जहां महाविकास अघाड़ी में उठापठक मची हुई है। राज्य में शुरू इस राजनीतिक घटना क्रम पर मुख्य विपक्षी दल भाजपा लगातार अपना ध्यान लगाए हुए हैं। नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस सुबह ही दिल्ली पहुंचा गए हैं। वहीं इस घटना क्रम पर भाजपा आलाकमान ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव को राज्य का पर्यवेक्षक बनाया है।