Sachin Pilot "true Congressman" won't leave party: DK Shivkumar
File Photo

    रामनगर (कर्नाटक). कोविड के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने सोमवार को राज्य की भाजपा सरकार पर कांग्रेस की पदयात्रा में बाधा खड़ी करने की मंशा से झूठी कोविड-19 पॉजिटिव रिपोर्ट देने का आरोप लगाया एवं इसकी न्यायिक जांच की मांग की। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मार्च को बाधित करने के लिए किसी तरह उन्हें कोविड संक्रमित घोषित करने की साजिश है। कांग्रेस ने कोविड-19 पाबंदियों के बावजूद रविवार को कावेरी नदी पर मेकेदातु परियोजना के क्रियान्वयन की मांग को लेकर अपनी दस दिवसीय पदयात्रा शुरू की थी ।

    शिवकुमार ने कहा, ‘‘ कर्नाटक सरकार किसी भी तरह इस पदयात्रा को रोकने के लिए मेरे और मेरी पार्टी के विरूद्ध साजिश रच रही है, यही उसका मुख्य कार्यक्रम है…कल रात सहायक उपायुक्त को मेरी जांच करवाने एवं मेरी पॉजिटिव रिपोर्ट हासिल करने के लिए मेरे पास भेजा गया था।”

    पदयात्रा के दूसरे दिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ वह (सरकार) झूठी पॉजिटिव रिपोर्ट दे रही है, इसलिए जांच होनी चाहिए….. वह (सरकार) राजनीति की खातिर पाबंदियां लगाकर लोगों की जिंदगी खत्म करने का प्रयास कर रही है। मैं बताये जा रहे मामलों की न्यायिक जांच की मांग करता हूं।”

    उन्होंने कहा, ‘‘ बढ़ती संक्रमण दर भाजपा की है। यह भाजपा का पॉजिटिव है, भाजपा का कोविड है, भाजपा का ओमीक्रोन है, भाजपा का लॉकडाउन और कर्फ्यू है। लोगों को रोग नहीं होने के बाद भी वह ऐसा दिखा रही है।” रविवार को कर्नाटक में कोविड-19 के 12000 नये मामले सामने आये थे। उन्हें कोविड संक्रमित दिखाने या पॉजिटिव प्रमाणपत्र देने की साजिश का आरोप लागते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उनकी जानकारी के अनुसार कल रात जो सहायक उपायुक्त उनके पास आये थे , वह अब कोरोना संक्रमित हैं।

    उन्होंने सवाल किया, ‘‘ वह (किसी संक्रमित के संपर्क में आने वाले) प्राथमिक संपर्क या कुछ और हैं। तब उसने (भाजपा सरकार ने) उस अधिकारी को मेरे पास क्यों भेजा? वह किसी तरह समस्या पैदा करना चाहती है। वह ऐसी तुच्छ राजनीति क्यों करना चाहती है?” जब उनसे कहा गया कि जांच से पहले ही उन्हें संदेह क्यों है कि अधिकारी उनकी पॉजिटिव रिपोर्ट देंगे तो उन्होंने कहा, ‘‘ क्या हमारे पास जानकारी नहीं है? मेरे पास नौकरशाही की पूरी सूचना है, मंत्री एवं अधिकारी मुझे जानकारियां देते हैं।” इस बीच, कल शाम उनकी कोविड-19 जांच के लिए गये अधिकारियों को शिवकुमार द्वारा कथित रूप से डांटने का एक वीडियो सोशल वीडियो पर वायरल हो गया है।

    वीडियो में वह ऊंची आवाज में बोलते नजर आ रहे हैं, ‘‘ ….मैं फिट और ठीक हूं। आप मुझे मजबूर नहीं कर सकते। मैं कानून जानता हूं ।” इस पर, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा, ‘‘ हम (सरकार) न केवल उनकी बल्कि अन्य लोगों की सेहत की भी चिंता करते हैं, जो कल उनके साथ इतनी दूर तक चले। उनके स्वास्थ्य की जांच करना स्वास्थ्य विभाग का कर्तव्य और उदारता है, इस बात को समझे बगैर ही उन्होंने ऐसा आचरण किया, इस संबंध में हम कुछ नहीं कर सकते, यह उनकी संस्कृति है।”

    इस बीच, पुलिस ने कोविड-19 पाबंदियों के बावजूद पदयात्रा निकालने को लेकर शिवकुमार, विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धरमैया और बेंगलुरु ग्रामीण के सांसद डी के सुरेश समेत करीब 30 कांग्रेस नेताओं एवं अन्य के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की। (एजेंसी)