अजीब: मां ने तोड़ी बेटी की नाक, कोर्ट ने सुनाई ये सजा

    नई दिल्ली: आम तोर पर गलती करने पर हर मां (Mother) अपने बच्चों (Children) की पिटाई करती है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं की हम अपने बच्चों  को बेदर्दी से मारे। जी हां जिस बारे में हम आपको बताने जा रहे है उसे जानकर आप भी दंग रह जाएंगे। दरअसल यह हैरान कर देने वाला ब्रिटेन का है।

    ब्रिटेन (Britain) के बॉलिंगटन शहर (Ballington) में रहने वाली एक मां ने बॉक्सिंग मैच विवाद के चलते अपने बेटी (Daughter) के साथ जो किया उसे जानकर सबके होश उड़ गए। जी हा इस मां ने अपनी बेटी की नाक तोड़ दी। बता दें कि ऐसा एक विवाद के चलते हुआ था। यह विवाद एंथोनी जोशुआ बॉक्सिंग मैच को लेकर हुआ था। आइए जानते है क्या है पूरी खबर… 

    मां ने तोड़ी बेटी की नाक

    दरअसल, यह हैरान कर देने वाला मामला बरतें का है। बता दें कि 39 साल की थेरेसा कैरोल ने अपनी 19 साल की बेटी चैंटेल कैरोल को पिछले साल अपने घर आने के लिए बैन कर दिया। उस वक्त मां ने पाने बेटी के साथ जो किया इसके बारे में कोई भी नहीं सोच सकता है। दरसअल विवाद के दौरान  उस समय मां ने अपने बेटी के बाल पकड़े थे और उसके चेहरे पर पंच मार दिया इस वजह से बेटी की नाक टूट गई।

    कोरोना के दौरान हुआ ऐसा…

    ‘द सन’ की खबर के अनुसार, यह तब की घटना है, जब बिट्रेन में कोविड के कारण सख्त नियम लागू किये थे और मां और बेटी ब्रिटेन के बोलिंगटन शहर में रहती थी। यहां पर टियर 2 के रूल्स लागू थे जिसका मतलब घर में रहते हुए भी कोई भी सदस्य एक-दूसरे का साथ मिक्स नहीं हो सकता था। उन सबको एक दूसरे से दूर ही रहना है।

    ये थी घटना

    यह घटना पिछले साल 12 दिसंबर की है जब उस दिन एंथोनी जोशुआ बॉक्सिंग मैच को देखने के लिए मां ने अपने दोस्तों को घर पर बुलाया और जमकर घर में हंगामा मचाया। जब पूरे दिन होटल में काम करने के बाद बेटी घर आई तो उसे गुस्सा आ गए कि कोविड गाइडलाइन के सख्त माहौल में ये क्या हो रहा है।

    इस बात पर वह अपने मां को डांटने लगी कि कोरोना के इस खराब माहौल में आप घर में इतने सारे लोगों को कैसे बुला सकती हो। इसपर मां ने जवाब दिया ये मेरा घर है, यहां मै जो चाहूंगी वही होगा और इस विवाद के दौरान मान ने बेटी के नाक पर पंच मार दिया और बेटी की नाक टूट गई।

    कोर्ट ने सुनाई ये सजा 

    दरसल इस हैरान कर देने वाली घटना अदालत तक पहुंच गई। इस मामले में तीन बच्चों की मां थेरेसा ने स्टॉकपोर्ट मजिस्ट्रेट के सामने इस तरह के हमले को स्वीकार किया और अपनी गलती काबुल की। कोर्ट ने इस बात को मानते हुए एक साल तक बेटी से न मिलने का ऑर्डर पास किया। इस वजह से अब यह महिला अपने खुद के बेटी से एक साल तक नहीं मिल सकेगी।