At Diwali Annual Function in US Parliament American MPs said- 'Hindu-American culture has made America prosperous'
File

    वाशिंगटन: अमेरिका (America) की संसद में दीपावली (Diwali) के वार्षिक समारोह के दौरान अमेरिकी सांसदों ने कहा कि हिंदू-अमेरिकी संस्कृति (Hindu-American Culture) ने अमेरिका और दुनिया को अधिक समृद्ध बनाया है। सांसद रो खन्ना (MP Ro Khanna) ने कहा, ‘‘एक समुदाय के रूप में हमने लंबी यात्रा तय की है और हम एक ऐसे स्थान पर पहुंच गए हैं, जहां मेरी तरह हर हिंदू-अमेरिकी कह सकता है कि इस समुदाय से संबंधित होने पर मुझे गर्व है, मुझे दीपावली मनाने पर गर्व है और हिंदू-अमेरिकी संस्कृति ने अमेरिका एवं दुनिया को समृद्ध बनाया है।”

    कई भारतीय अमेरिकी संगठनों की मदद से ‘इंडियासपोरा’ पिछले कई साल से अमेरिकी संसद में रोशनी का यह त्योहार मनाता आ रहा है। इस समारोह में अकसर बड़ी संख्या में सांसद, प्रशासन के सदस्य और देशभर से समुदाय के जाने-माने सदस्य शामिल होते हैं, लेकिन इस बार कोविड-19 संबंधी प्रतिबंधों के कारण समारोह में सीमित लोग ही शामिल हुए, लेकिन इंटरनेट के माध्यम से इसका सीधा प्रसारण किया गया।

    तीन बार सांसद चुने गए खन्ना ने कहा कि उनके जिले कैलिफोर्निया में देश के सर्वाधिक भारतीय-अमेरिकी रहते हैं। इंडियासपोरा के संस्थापक एम आर रंगास्वामी ने कहा, ‘‘सभी सरकारी क्षेत्रों में सेवाएं देने वाले भारतीय-अमेरिकियों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर यह महसूस करना उचित है कि वर्ष के सबसे शुभ उत्सवों में शामिल दीपावली के दौरान हम अपने समुदाय में इन लोक सेवकों की सेवा का सम्मान करते हैं।”

    इस समारोह में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की वरिष्ठ सलाहकार नीरा टंडन, अमेरिकी सर्जन जनरल वाइस एडमिरल विवेक मूर्ति, भारतीय-अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल और सांसद राजा कृष्णमूर्ति ने भी दीपावली की महत्ता पर बात की।

    सांसद कैरोलिन मालोनी ने कहा, ‘‘जब 2021 समाप्त होने वाला है, ऐसे में रोशनी के त्योहार दीपावली को और जगमग बनाने के लिए मेरी उसे संघीय अवकाश घोषित करने के संबंध में विधेयक पेश करने की योजना हैं।” इस अवसर पर सांसद जुआक्विन कास्त्रो, सीनेटर जॉन कोर्निन और सांसद डॉ. एमी बेरा ने भी अपने विचार साझा किए।  (एजेंसी)